जयपुर चौपाटी की पहली वर्षगांठ 5 नवम्बर को, फूड आइटम्स पर मिलेगीं 20% छूट।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
राजस्थान आवासन मण्डल द्वारा फैमिली गेदरिंग के डेस्टिनेशन के रूप में प्रतापनगर एवं मानसरोवर में विकसित जयपुर चौपाटी आगामी 5 नवम्बर को अपनी स्थापना की पहली वर्षगांठ सफलतापूर्वक मनाने जा रही है। आवासन आयुक्त पवन अरोडा की पहल पर विकसित इन दोनों चौपाटियों ने बीते एक साल में जयपुरवासियों के साथ ही पर्यटकों के दिल में भी अपनी अलग पहचान कायम की है। आवासन आयुक्त की पहल पर ही जयपुर चौपाटी के दुकानदारों ने अपने स्थापना दिवस 5 नवम्बर को आगन्तुकों के लिये खाने-पीने के व्यंजनों पर 20 प्रतिशत की विशेष छूट देने का निर्णय किया है। स्थापना दिवस के उपलक्ष्य में दोनों चौपाटियों में दुकानदारों द्वारा आकर्षक लाइटिंग एवं विशेष सजावट भी की जाएगी।उल्लेखनीय है कि यह दोनों चौपाटियां अपनी स्थापना के बाद से ही जयपुरवासियों के लिये प्रमुख आकर्षण का केन्द्र बनी हुई हैं। प्रतिदिन डेढ से दो हजार लोग यहां भांति-भांति के लजीज व्यंजनों का आनंद लेने अपने परिवार के साथ आते हैं। वीकेंड के दिन तो यह संख्या बढकर चार से पांच हजार तक पहुंच जाती हैं। लोग यहां बर्थ-डे पार्टी, किटी पार्टी जैसे आयोजन भी करते है। विशेष रूप से लाइव बैंड की म्यूजिकल प्रस्तुतियां यहां का प्रमुख आकर्षण है।  
मिलते हैं ये लजीज व्यंजन।
दोनों चौपाटियों पर देशी-विदेशी लजीज व्यंजन मिलते हैं। फास्ट फूड के साथ-साथ साउथ इंडियन, राजस्थानी, चाइनीज, पंजाबी, इटेलियन फूड तथा गजक, स्वीट्स, आईस्क्रीम, ज्यूस, छाछ, चाय-कॉफी, दूध, लस्सी जैसी खाने-पीने की चीजें यहां मिलती हैं।
चौपाटियों में हैं यह सुविधाएं।
चौपाटियों में आगन्तुकों के लिये बैठने की अच्छी व्यवस्था, आर ओ वाटर, आधुनिक टॉयलेट, स्क्रीन, ब्ब्ज्ट कैमरे, विडियो वॉल, साउण्ड सिस्टम, सेल्फी पॉइंट, फाउंटेन, आकर्षक विद्युत फिटिंग, रेनवाटर हारवेस्टिंग, अग्निशमन सिस्टम, पॉवर बैकअप की सुविधा के साथ पर्याप्त पार्किंग की व्यवस्था की गई है। इन चौपाटियों के सौन्दर्यकरण के लिये आकर्षक लाईटें, फुटपाथ पर रंगीन टाईल्स, बैठने के लिये लकड़ी की आकर्षक बैंचेज, मण्डाना पत्थर से निर्मित आकर्षक कार्य, वंशी पहाडपुर पत्थर से निर्मित महराब तथा अलग-अलग वैरायटी के पौधों से भरपूर ग्रीनरी लगाने का कार्य कराया गया है।
प्रताप नगर चौपाटी।
प्रताप नगर, सेक्टर-23 में हल्दीघाटी मार्ग पर स्थित 3 हजार 780 वर्गमीटर भूमि पर विकसित की गई है। इसके समीप लगभग 1 कि.मी. लम्बाई में चौपाटी से लगती हुई सर्विस रोड पर प्रताप एवेन्यू विकसित किया गया है। जहां लोग परिवार के साथ मॉनिग एवं इवनिंग वॉक करते हैं। प्रताप नगर चौपाटी में 28 दुकानें विकसित की गई हैं। 
मानसरोवर चौपाटी।
मानसरोवर चौपाटी द्वारकादास उद्यान के समीप द्वारकादास मार्ग पर 2 हजार 436 वर्ग मीटर क्षेत्र में विकसित की गई है। यहां विभिन्न प्रकार के व्यंजनों हेतु 22 दुकानों का नियोजन किया गया हैं। यहां पर सैल्फी पॉइंट, विडियो वॉल तथा साफ-सफाई की भी विशेष व्यवस्था की गई है। 
विदेशी मेहमान भी लेते हैं जायकेदार व्यंजनों का स्वाद।
इसी साल सितम्बर माह में फ्रांस एवं केन्या से आए विदेशी पर्यटकों ने यहां के जायकेदार व्यंजनों का स्वाद लिया और आवासन मण्डल के स्ट्रीट फूड हब कॉन्सेप्ट तथा खूबसूरत आर्किटेक्चर की सराहना की। टूरिस्ट गाइड एसोसिएशन तथा होटल व्यवसाय एसोसिएशन के प्रतिनिधियों ने आश्वस्त किया है कि कोरोना के बाद शुरू हुए पर्यटन सीजन में और अधिक संख्या में विदेशी पर्यटकों को वे चौपाटियां दिखाने तथा राजस्थान के व्यंजनों से परिचित कराने लाएंगे। 
वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में दर्ज हो चुका है कीर्तिमान।
मानसरोवर एवं प्रताप नगर चौपाटी में नवम्बर, 2021 से मार्च, 2022 के दौरान पहले 5 माह में 6 लाख 10 हजार 670 लोगों के प्रवेश (फुट-फॉल) को वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स ने अन्तर्राष्ट्रीय कीर्तिमान के रूप में मान्यता दी है। पुदुचेरी की पूर्व उप राज्यपाल डॉ. किरण बेदी ने वल्र्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स की ओर से आवासन मण्डल को यह पुरस्कार प्रदान किया था। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजस्थान आवासन मण्डल द्वारा निर्मित इन चौपाटियों का उद्घाटन किया था।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack