सीएम गहलोत ने अलवर में 69 करोड़ रूपए के 71 विकास कार्यों का किया लोकार्पण और शिलान्यास।

अलवर ब्यूरो रिपोर्ट।
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि देश में अर्थव्यवस्था की विपरीत स्थिति के बावजूद राजस्थान में कुशल वित्तीय प्रबंधन से हर क्षेत्र में विकास कार्य हो रहे हैं। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, शिक्षा, पेयजल, विद्युत, सड़क, कर्मचारी वर्ग, रोजगार सहित विभिन्न क्षेत्रों में संचालित जनकल्याणकारी योजनाओं में राजस्थान मॉडल स्टेट बना है। प्रदेश में लगभग 1 करोड़ लोगों को सामाजिक सुरक्षा के तहत पेंशन दी जा रही है। बजट घोषणाएं धरातल पर उतारकर हर वर्ग को लाभान्वित किया जा रहा है। गहलोत अलवर जिले के खैरथल में लगभग 69 करोड़ रूपए के 71 विकास कार्यों के लोकार्पण एवं शिलान्यास समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा अंतिम व्यक्ति तक लाभ पहुंचाने में वित्त की कमी नहीं आने दी जाएगी। गहलोत ने कहा कि हमारी कोशिश है कि प्रदेश में प्रति व्यक्ति आय और हैप्पीनेस इंडेक्स बढ़े। उन्होंने प्रदेशवासियों से आपसी समन्वय, प्रेम और सद्भाव से रहने की अपील भी की। उन्होंने कहा कि प्रदेश में हिंसा बर्दाश्त नहीं करेंगे।   
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाओं में राजस्थान अग्रणी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरे देश में राजस्थान स्वास्थ्य सेवाओं में अग्रणी राज्य है। ‘मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना‘ को केंद्र सरकार देशभर में लागू करें, ताकि हर वर्ग को महंगी चिकित्सा से राहत मिल सकें। उन्होंने कहा कि अभी तक 25.26 लाख लोग योजना के तहत चिकित्सा सुविधा ले चुके हैं। इनमें लगभग 2963 करोड़ रूपये खर्च हो चुके हैं।
शिक्षा, रोजगार और कर्मचारी हितों में अहम निर्णय।
गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार ने ‘महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम विद्यालय‘, ‘मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना‘, ‘राजीव गांधी स्कॉलरशिप फॉर एकेडमिक एक्सीलेंस‘ सहित कई योजनाएं शुरू कर विद्यार्थियों और अभिभावकों को संबल प्रदान किया है। उन्होंने कहा कि अभी तक 1.30 लाख सरकारी नौकरियां दी जा चुकी हैं। लगभग 1 लाख पदों पर भर्ती प्रक्रियाधीन हैं। एक लाख नौकरियों की घोषणा बजट 2022-23 में की गई है। ऐसे में राजस्थान देश में सरकारी नौकरियां देने में भी अग्रणी राज्य बना है। उन्होंने बताया कि मानवीय दृष्टिकोण से पुरानी पेंशन योजना को फिर से शुरू कर राज्य कर्मचारियों का भविष्य सुरक्षित किया गया है। 
ईआरसीपी को मिले राष्ट्रीय परियोजना का दर्जा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना (ईआरसीपी) को राष्ट्रीय परियोजना का दर्जा दिए जाने के लिए केंद्र सरकार से लगातार मांग की जा रही है। यह 13 जिलों में सिंचाई व पेयजल आपूर्ति सुनिश्चिता के लिए अत्यन्त महत्वपूर्ण है। उन्होंने प्रदेशवासियों को आश्वस्त किया कि केंद्र सरकार राष्ट्रीय परियोजना घोषित नहीं करेगी तो भी राज्य सरकार अपने संसाधनों से इसे आगे बढ़ाएगी। 
प्रदर्शनी का अवलोकन और लाभार्थियों से किया संवाद।
गहलोत ने सभा स्थल पर विभिन्न विभागों के फ्लैगशिप योजनाओं पर आधारित प्रदर्शनी का अवलोकन किया। उन्होंने चिरंजीवी योजना में हार्ट सर्जरी करा चुके बच्चों और अन्य योजनाओं के लाभार्थियों से आत्मीयता से बातचीत कर कुशलक्षेम पूछी। उन्होंने लाभार्थियों को प्रमाण पत्र और चैक भी वितरित किए। इस पर लाभार्थियों ने मुख्यमंत्री का आभार जताया। इससे पहले गहलोत ने अंबेडकर सर्किल पर डॉ. भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित किए और उपस्थित आमजन से बातचीत भी की। पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि राज्य सरकार हर वर्ग के कल्याण में अहम निर्णय ले रही है। अलग से कृषि बजट, ओल्ड पेंशन स्कीम, अंग्रेजी माध्यम विद्यालयों सहित अनेक फैसलों से आमजन को संबल मिला है। राजस्थान किसान आयोग के उपाध्यक्ष दीपचंद खेरिया ने कहा कि राज्य की नीतियों से हर वर्ग लाभान्वित हो रहा है। पिछले चार वर्षों में क्षेत्र का चहुंमुखी विकास हुआ है। इस अवसर पर विभिन्न सामाजिक संगठनों और राज्य कर्मचारियों ने अहम फैसलों के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया।
ये हुए लोकार्पण।
·राजकीय सैटेलाइट अस्पताल खैरथल, लागत 10.21 करोड़ रूपए,
·पीएचसी बूढ़ीबावल कोटकासिम,
·पीएचसी बघाना कोटकासिम, लागत 185 लाख रूपए,
·पीएचसी तिगांवा कोटकासिम,
·राजकीय ब्लॉक स्तरीय आयुर्वेदिक चिकित्सालय कोटकासिम,
·प्रथम श्रेणी राजकीय पशु चिकित्सालय हरसौली, क्रमोन्नत
·राजकीय पशु चिकित्सालय नांगल सालिया, लागत 12 लाख रूपए
·पशु स्वास्थ्य उपकेन्द्र कतोपुर (नवीन भवन), लागत 12 लाख रूपए, लोकार्पण
·पशु स्वास्थ्य उपकेन्द्र राताखुर्द (नवीन भवन), लागत 12 लाख रूपए, लोकार्पण
·पशु चिकित्सालय बाघोड़ा (नवीन भवन), लागत 35 लाख रूपए, लोकार्पण
·हरसोली उप तहसील से तहसील में क्रमोन्नत,
·खैरथल उप तहसील से तहसील में क्रमोन्नत,
·कोटकासिम नगरपालिका नवसृजित,
·33 केवी सबस्टेशन खैरथल अनाज मण्डी, लागत 189.43 लाख रूपए
·सहायक अभियंता कार्यालय हरसोली, क्रमोन्नत
·आचार्य संस्कृत महाविद्यालय कोटकासिम, क्रमोन्नत
·3 नवीन प्राथमिक विद्यालय
·4 विद्यालय प्राथमिक से उच्च प्राथमिक विद्यालय में क्रमोन्नत
·22 विद्यालय माध्यमिक से उच्च माध्यमिक विद्यालय में क्रमोन्नत
·11 विद्यालय महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम विद्यालय में परिवर्तित
·किशनगढ़बास से बोलनी हरियाणा सीमा तक सड़क निर्माण, लागत 16 करोड़ रूपए
·बघाना-मेवली सड़क निर्माण बीडा-भिवाड़ी, लागत 52 लाख रूपए
·बासकृपाल नगर श्यामजी के गेट से हनुमान मंदिर गंज तक, लागत 142.5 लाख रूपए
·खैरथल रोड से टांकाहेडी सड़क निर्माण कार्य, लागत 115 लाख रूपए
·ग्राम पंचायत भवन, आकोली (कोटकासिम), लागत 44.48 लाख रूपए,
·ग्राम पंचायत भवन, जकोपुर (कोटकासिम), लागत 43.23 लाख रूपए

ये हुए शिलान्यास।
·पीएचसी बाघोड़ा किशनगढ़बास, लागत 185 लाख रूपए
·पीएचसी बीबीरानी से सीएचसी क्रमोन्नत, लागत 440 लाख रूपए
·उपकेन्द्र खेड़ा किशनगढ़बास, लागत 41 लाख रूपए
·आयुर्वेद किशनगढ़बास भवन, लागत 8 लाख रूपए
·राजकीय कृषि महाविद्यालय एवं कृषि फार्म किशनगढ़बास, लागत 16 करोड़ रूपए
·राजकीय महाविद्यालय खैरथल, लागत 4.5 करोड़ रूपए
·राजकीय कन्या महाविद्यालय किशनगढ़बास, लागत 4.5 करोड़ रूपए
·किशनगढ़बास से हनुमान मंदिर तक सड़क निर्माण, 127 लाख रूपए
·अलवर दिल्ली बाईपास से खेल स्टेडियम तक सीसी सड़क निर्माण, लागत 105 लाख रूपए

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack