अहंकार करने वाला व्यक्ति विनाश के मार्ग पर अग्रसर होता है - राठौड़।

अजमेर ब्यूरो रिपोर्ट।
राजस्थान पर्यटन विकास निगम के अध्यक्ष एवं राज्यमंत्री धर्मेंद्र राठौड़ ने कहा कि अहंकार करने वाला व्यक्ति  विनाश के मार्ग पर अग्रसर होता है।निगम अध्यक्ष राठौड़ नसीराबाद विधानसभा क्षेत्र की धोला दाता बवानिया ग्राम में नौ दिवसीय रामकथा के समापन समारोह पर संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अहंकार, जिसे अभिमान, घमंड, गर्व एवं अहम जैसे नामों से जाना जाता है। आज हमें आवश्यकता है कि अहंकार रूपी इस शत्रु से सदैव बचकर रहें। यही सीख महापुरुषों ने भी दी है। उन्होंने कहा कि परम प्रतापी विद्वान राजा रावण का अहंकार के कारण ही पतन हुआ । रामायण में भगवान राम, माता सीता और लक्ष्मण जी तीनों ने ही चौदह वर्षों तक विपरीत परिस्थितियों में भी संयम के साथ समय व्यतीत किया। रामायण की इस बात से सीख मिलती है कि व्यक्ति को हर परिस्थिति में संयम बरतना चाहिए। जो व्यक्ति सुख एवं दुख में संयम और धैर्य बनाए रखता है। वह विषम परिस्थितियों से लड़कर अपने लक्ष्य को प्राप्त कर सकता है।समारोह में कथावाचक सांवरा राम महाराज एवं साधु संतों ने नौ दिवसीय श्रीराम कथा के समापन समारोह में यज्ञ में पूर्णाहुति दी एवं महाआरती का आयोजन किया गया। निगम अध्यक्ष राठौड़ ने गांव में बनने वाले विशाल हनुमान जी के मंदिर की भी नींव रखी।इस अवसर पर सभी अतिथियों का माल्यार्पण कर साफा बंधन कर स्वागत किया गया । समारोह में सरपंच संघ पंचायत समिति श्रीनगर के अध्यक्ष मानसिंह रावत के नेतृत्व में ग्रामवासियों ने निगम अध्यक्ष राठौड़ को 101 किलो की माला पहना कर अभिनंदन किया। निगम अध्यक्ष राठौड़ के नसीराबाद पहुंचने पर नसीराबाद हाऊसिंग बोर्ड जैन कॉलोनी पर श्रीनगर उपप्रधान प्रतिनिधि चमन चीता के नेतृत्व में, बीड़ा वाली माता जी नांदला में भूपेंद्र सिंह राठौड़, विष्णु सिंह राठौड़ के नेतृत्व में राजपूत समाज द्वारा, भवानीखेड़ा में मुख्य चौराहे पर ज्ञान सिंह रावत एवं पंचायत समिति सदस्य शंकर सिंह रावत के नेतृत्व में, भवानी खेड़ा के बांडी स्थित आरके डिफेंस एकेडमी पर निदेशक रंमजू खान के नेतृत्व में  स्वागत किया गया।.इस अवसर पर पूर्व विधायक महेंद्र सिंह गुर्जर, पूर्व जिला प्रमुख रामस्वरूप चौधरी, शिव कुमार बंसल, अजय तेंगौर, हरपाल सिंह राणा, मुबारक चीता, गुल मोहम्मद, कन्हैयालाल तुनवाल, नांदला सरपंच मान सिंह रावत, प्रभु सिंह रावत, शंभू सिंह रावत, कान सिंह रावत, भवानीखेड़ा सरपंच ज्ञान सिंह रावत, पंचायत समिति सदस्य शंकर सिंह रावत, बांघसुरी सरपंच मस्तान खान, पंचायत समिति सदस्य हरिकिशन, चमन चीता सहित जिला परिषद सदस्य, पंचायत समिति सदस्य एवं आस-पास के क्षेत्र के सरपंचगण व बड़ी संख्या में श्रद्धालु उपस्थित रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack