राजस्थान को मजबूत बनाने के लिए किसान का सशक्त होना बेहद जरूरी।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
राजस्थान स्टेट एग्रो इंडस्ट्रियल डवलपमेंट बोर्ड के अध्यक्ष रामेश्वर डूडी ने कहा कि प्रदेश को आर्थिक तौर पर मजबूत बनाने के लिए किसान का सशक्त होना बेहद जरूरी है। उन्होंने कहा कि यह बोर्ड सरकार को किसानों के हित में सुझाव देगा जिससे अधिक से अधिक किसानों की वृद्धि हो सकें। डूडी पंत कृषि भवन में राजस्थान स्टेट एग्रो इंडस्ट्रियल डवलपमेंट बोर्ड की प्रथम बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि बोर्ड द्वारा राज्य के विभिन्न जिलों में अलग-अलग कृषक संवाद कार्यक्रम आयोजित किए गए तथा उन कार्यक्रमों में किसानों से बहुत सारे सुझाव प्राप्त हुए, बोर्ड उन सुझावों पर चर्चा कर सरकार को आगे किसानों के हित में प्रस्ताव भेजेगा। डूडी ने किसानों को अधिक से अधिक लाभ दिलवाने के उद्देश्य से राजस्थान कृषि प्रसंस्करण, कृषि व्यवसाय एवं कृषि निर्यात प्रोत्साहन नीति 2019 में किसान की परिभाषा बदलने का सुझाव दिया। उन्होंने कहा कि किसानों के लिए बनाई गई इस नीति में जो भी विसंगतियां हैं उसे दूर करने का प्रयास किया जाएगा। डूडी ने कहा कि बोर्ड का लक्ष्य है कि आगामी समय में अधिक से अधिक किसान को इस पॉलिसी से जोड़कर किसान को सशक्त बनाया जाए।  बैठक में बोर्ड की उपाध्यक्ष सुचित्रा आर्या ने कहा कि छोटे काश्तकारों को इस नीति से लाभ लेने में आ रही बाधाओं एवं समस्याओं का सरलीकरण किया जाए। उन्होंने कहा कि किसानों को आधुनिक तकनीक से जोड़ा जाए तथा विभिन्न मीडिया के माध्यम से राजस्थान कृषि प्रसंस्करण नीति 2019 का प्रचार प्रसार किया जाए। उन्होेंने राज्य में उत्पादित प्रमुख फसलें जैसे जीरा, धनिया, ईसबगोल पर जी आई टेग दिलवाने पर जोर दिया जिससे कृषकों की आय में वृद्धि होगी। बैठक में कृषि प्रसंस्करण नीति 2019 के अंतर्गत लाभ लेने के लिए बैंक से लोन लेने की अनिवार्यता से छूट, आयकर दाता कृषकों को अनुदान का लाभ, कृषि विपणन बैंक एवं राजस्व विभाग को एकल खिड़की योजना के तहत लाने सहित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack