बाल दिवस से विद्यालय के बच्चों के लिए खुलेगा विधान सभा का राजनैतिक आख्यान संग्रहालय।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
राजस्थान विधान सभा अध्यक्ष डॉ. सी. पी. जोशी ने बताया है कि राजस्थान विधान सभा में  निर्मित राजनैतिक आख्यान संग्रहालय 14 नवम्बर से विद्यालय के बच्चों के लिए खोला जाएगा। यह संग्रहालय प्रातरू 10 बजे से साय 05 बजे तक बच्चों के लिए खुला रहेगा। बच्चों को विधान सभा के गेट नम्बर 7 से प्रवेश दिया जायेगा। संग्रहालय के लिए निर्धारित गाइड लाइन की पालना बच्चो को करनी होगी। राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सी.पी. जोशी ने कहा कि लोकतांत्रिक व्यवस्था में लोगों का विश्वास तभी कायम होगा, जब उन्हें इसकी कार्यप्रणाली के बारे में जानकारी होगी। डॉ. जोशी शुक्रवार को राजस्थान विधानसभा परिसर में राजनैतिक आख्यान संग्रहालय के बारे में पत्रकारों को जानकारी दे रहे थे।उन्होंने कहा कि लोकतांत्रिक व्यवस्था के बारे में युवा पीढ़ी को अधिक से अधिक जानकारी होनी चाहिए। उन्होंने बताया कि 14 नवंबर से 1 महीने के लिए इस संग्रहालय में बच्चों को निरूशुल्क प्रवेश दिया जाएगा।29 जुलाई, 2019 को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजस्थान की राजनीतिक गतिविधियों के केंद्र में एक अत्याधुनिक राजनैतिक आख्यान  संग्रहालय राजस्थान विधान सभा भवन में बनाने की घोषणा की थी। जयपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड (जेएससीएल) द्वारा निर्मित, यह संग्रहालय 30 इमर्सिव गैलरी के माध्यम से राजस्थान के आख्यानों के बारे में बताता है। कालातीत कलात्मकता और नए जमाने की तकनीकी साज-सज्जा से सुसज्जित संग्रहालय राजस्थान के जनप्रतिनिधियों और राजनीतिक नायकों के योगदान को अमर करता है। यह न केवल एक राजनीतिक संग्रह के रूप में कार्य करता है बल्कि लोगों को राजस्थान की राजनीति और कानून से भी जोड़ता है। 16 जुलाई 2022 को न्यायमूर्ति एन.वी.रमणा (भारत के तत्कालीन मुख्य न्यायाधीश) द्वारा संग्रहालय का उद्घाटन किया गया।विधानसभा भवन की ऊपरी व निचले भूतल में स्थित 26 हजार स्क्वायर फीट में बना यह विशाल संग्रहालय अत्याधुनिक तकनीकी माध्यमों से राजस्थान की गौरवमयी गाथा और राजनैतिक आख्यानों को प्रस्तुत करता है। संग्रहालय में जनप्रतिनिधियों और निर्माताओं के योगदान को देखा जा सकता हैं। कलात्मकता और आधुनिकता के पर्याय इस संग्रहालय में विधानसभा की कार्यप्रणाली और विभिन्न प्रक्रियाएं, राजस्थान के मुख्यमंत्री और विधानसभा अध्यक्ष, निर्वाचन क्षेत्र और विधायक के बारे में जानकारी भी प्रदर्शित की गई है। मंत्रिमंडल, विपक्ष के नेता और अन्य जनप्रतिनिधियों की भूमिका को प्रदर्शित करता यह संग्रहालय पूरे देश में अनूठा उदाहरण है। इस डिजिटल म्यूजियम में आगंतुक अत्याधुनिक तकनीकी माध्यमों से लोकतंत्र, विधानसभा के कार्य और प्रशासन प्रणाली तथा सामान्य नागरिक से जनता के सर्वाेच्च प्रतिनिधि तक की यात्रा का सफर देख सकते हैं। चालीस से अधिक इंस्टॉलेशन और विभिन्न टेक्नोलॉजी से सुसज्जित यह डिजिटल म्यूजियम नई पीढी़ के लिए प्रेरणा का सतत स्रोत होगा। डिजिटल संग्रहालय में आधुनिकतम तकनीकों का प्रयोग किया गया है। टॉक विद स्पीकर स्टूडियो में प्रश्न किये जा सकते हैं। म्यूजियम की विषय वस्तु हिन्दी व अंग्रजी दोनों भाषाओं में उपलब्ध है। टच स्क्रीन के माध्यम से भाषा का चयन किया जा सकता है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack