बाल दिवस पर बच्चों की बाल सुरक्षा और अधिकारो पर हुई प्रतियोगिता आयोजित।

करौली ब्यूरो रिपोर्ट।
बाल दिवस पर बच्चों के बीच बाल अधिकार और सुरक्षा के बारे में अवगत कराने के लिए रा.उ.मा.वि. ससेड़ी, में विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम का आयोजन शिक्षा विभाग, करौली एवं पीरामल फाउंडेशन व आंगन के सयुक्त तत्वाधान में किया गया। बच्चों को रंगोली प्रतियोगिता, निबंध प्रतियोगिता एवं चित्रकला प्रतियोगिता के माध्यम से बाल सुरक्षा एवं बाल अधिकार के बारे में जानकारी दी गई। साथ ही शिक्षा में नवाचार हेतु करौली में रीड एलॉग के बारे में शिक्षकों व बच्चों को बताया। 
बच्चों ने असेम्बली में रीड एलोंग के माध्यम से कहानी वाचन की। इस वाचन से बच्चों के बीच रोचकता आ गई। शिक्षकों ने भी अपने मोबाइल पर रीड एलॉग इंस्टॉल करके बच्चों को उससे कहानी वाचन करवाया। इससे बच्चे न केवल पढ़ाई के प्रति उत्साहित थे, बल्कि उनके लिए काफी मंनोरजक था। बाल दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में विरेन्द्र कुमार, मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी, करौली थे। उन्होंने बच्चों द्वारा की जा रही प्रतियोगिता का अवलोकन किया। साथ ही उनका उत्साहवर्धन किया। अतिराज मीना, पीईईओ, ससेड़ी ने मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी का स्वागत किया। उन्होंने बच्चों से कहा कि आप पहले खुद का आकंलन करें। देखे कि आप जो ग्रहण करने जा रहे हैं, क्या आप उसके लिए तैयार है? यदि नहीं है तो मानसिक तनाव बढ़ेगा। जो हमें पतन की ओर ले जाएगा। उन्होंने शिक्षकों को संबोधित करते हुए कहा कि आप सिलेबस को पूरा न करें बल्कि उसको बच्चों के सामने खोल दें। इसके बाद उन्होंने कहा कि आप भले ही फटे कोट पहन लें, लेकिन किताबें जरूर पढ़े। जिससे आपके ज्ञान में वृद्धि होगी। बाल सुरक्षा एवं अधिकार पर विद्यालय विकास एवं प्रबंधन समिति के मीटिंग का आयोजन किया गया। इसमें ग्रामीणों ने हिस्सा लिया। उन्होंने अपने द्वारा विद्यालय के विकास में किए गए कार्यों के बारे में बताया। इसके उपरांत गांव में संचालित स्वयं सहायता समूह के लोगों को भी बाल सुरक्षा एवं अधिकार के बारे में बताया गया। कार्यक्रम में पीरामल फाउंडेशन की तरफ से श्याम शर्मा, जिला समन्वयक, मुकेश शर्मा (प्रोग्राम लीडर), गोपाल सिंह (ड्रीस्ट्रीक लीड) एवं गांधी फेलो सत्यम पाण्डेय, मूलचंद मीना, श्वेता एवं निधि मिश्रा मौजूद थे। इनके साथ विद्यालय के शिक्षक, सरपंच, राजिविका के प्रतिनिधि आदि मौजूद थे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack