राजेन्द्र गुढ़ा ने फिर अलापा सीएम विरोधी सुर, कांस्टेबल का भी तबादला गहलोत के हाथ में होने का लगाया आरोप।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
नौकरशाहों की एसीआर भरने को लेकर मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास और महेश जोशी के बीच हुई बयानबाजी और तकरार के मामले में अब सचिन पायलट कैंप के माने जाने वाले मंत्री राजेंद्र गुढ़ा की भी एंट्री हो गई है। नौकरशाहों के एसीआर भरने को लेकर राजेंद्र गुढ़ा ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर निशाना साधा है। राजेंद्र गुढ़ा ने कहा कि राजस्थान में पावर पूरी तरह से सेंट्रलाइज है।मंत्री राजेंद्र गुढ़ा ने सोमवार को सचिवालय में प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कहा कि राजस्थान में अगर डीजीपी की नियुक्ति मुख्यमंत्री करते हैं तो कांस्टेबल का ट्रांसफर भी मुख्यमंत्री ही करते हैं, किसी भी मंत्री के हाथ में कुछ नहीं है। अगर किसी को कांस्टेबल का ट्रांसफर कराना होता है तो उसे सीएमआर जाना पड़ता है। मंत्री राजेंद्र गुढ़ा ने कहा कि राजस्थान में पावर पूरी तरह से सेंट्रलाइज है। सत्ता का विकेंद्रीकरण होना चाहिए। गौरतलब है कि अधिकारियों की एसीआर भरने को लेकर कैबिनेट मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा था कि एससीआर बनने का अधिकार मंत्रियों को मिलना चाहिए जिस पर कैबिनेट मंत्री महेश जोशी की ओर से अधिकारियों के समर्थन में दिए गए बयान के बाद खाचरियावास और महेश जोशी के बीच जमकर बयानबाजी और तकरार हुई थी। मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने महेश जोशी को गुलाम तक कह दिया था, विवाद बढ़ने पर खाचरियावास ने जोशी जोशी को अपना बड़ा भाई बताते हुए अपना बयान वापस ले लिया था।
एक माह तक चलेगा सशस्त्र सेना झंडा समारोह।
इससे पहले सैनिक कल्याण मंत्री राज ने गुढ़ा ने मीडिया से बातचीत में कहा कि 7 दिसंबर को सशस्त्र सेना झंडा दिवस समारोह है। शहीदों के सम्मान और आर्थिक सहयोग के लिए इस बार 7 नवंबर से 7 दिसंबर तक पूरे 1 महीने अभियान चलाया जाएगा। अभियान के तहत सैनिकों के कल्याण के लिए धनराशि एकत्र की जाएगी और धनराशि देने वाले दान-दान दाताओं को आयकर में छूट दी जाएगी। सैनिक कल्याण सलाहकार समिति के अध्यक्ष मानवेंद्र सिंह ने बताया कि सैनिकों के कल्याण के लिए धन एकत्रित करने के लिए जो अभियान चलाया जाएगा उसके तहत इस बार सभी जिलों में अलग-अलग कार्यक्रम आयोजित होंगे। इसके लिए बकायदा बैंक ऑफ बड़ौदा से भी करार किया गया है। इस बार पैसे एकत्रित करने के लिए ऑनलाइन ट्रांजैक्शन भी कराया जाएगा, जिसके लिए कॉरपोरेट बार क्यूआर कोड जनरेट किया गया है। उन्होंने बताया कि 4 दिसंबर को सभी जिला मुख्यालय पर साइकिल रैली निकाली जाएगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack