नौकरशाहों की एसीआर भरने पर खाचरियावास का दर्द, एक मंत्री एसीआर भरे, वो क्यों नहीं?

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
नौकरशाहों की एसीआर भरने को लेकर हाल ही में कैबिनेट मंत्री महेश जोशी के साथ हुए टकराव के बावजूद भी कैबिनेट मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि नौकरशाहों की एसीआर भरने के बयान पर मैं अभी भी कायम हूं। एसीआर भरने को लेकर मेरे अकेले का मामला नहीं बल्कि तमाम मंत्रियों के अधिकार का मामला है। मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने सचिवालय में कैबिनेट की प्रेस ब्रीफिंग के दौरान कहा कि इस मामले को लेकर उनका मुख्यमंत्री से कोई टकराव नहीं है, यह अधिकारों की बात है जब-जब भी सरकार पर संकट आया है तो वो सरकार बचाने के लिए सबसे आगे खड़े रहे हैं। उन्होंने कहा कि संविधान भी इस बात की इजाजत देता है कि मंत्रियों को नौकरशाहों की एसीआर भरना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह कोई आपसी झगड़ा नहीं है, हमारे परिवार का मामला है और परिवार में रहकर ही इस मामले की बात कर रहे हैं। इस मामले में मेरी मुख्यमंत्री गहलोत से भी चर्चा हो चुकी है।
ममता भूपेश ने कहा मैं भरती हूं एसीआर।
कैबिनेट की ब्रीफिंग के दौरान मंत्री ममता भूपेश ने कहा कि वो अपने विभाग के अधिकारियों के एसीआर भरती हैं। इस पर मंत्री खाचरियावास ने भी कहा कि सभी मंत्रियों को एससीआर भरने का अधिकार मिलना चाहिए।
मैं किसी मंत्री की बात नहीं काटता।
मंत्री राजेंद्र गुढ़ा की ओर से हाल ही में मुख्यमंत्री को लेकर दिए गए बयान पर भी खाचरियावास ने कहा कि तबादलों को लेकर मंत्री राजेंद्र गुढ़ा ने किस संदर्भ में क्या बात कही थी इस बारे में उन्हें पता नहीं है लेकिन वह कभी भी अपने सहयोगी मंत्री की बात को नहीं काटते हैं।
राजस्थान में नए सिरे से तैयार हो रहा है भारत जोड़ो यात्रा का रूट।
इधर राजस्थान में भारत जोड़ो यात्रा को लेकर मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि भारत जोड़ो यात्रा की तैयारियों को लेकर कैबिनेट की बैठक में भी चर्चा हुई है। राजस्थान में 3 दिसंबर को भारत जोड़ो यात्रा प्रवेश करेगी। हालांकि अभी तक यात्रा का फाइनल रूट तैयार नहीं हुआ है और तमाम नेता राहुल गांधी के साथ भारत जोड़ो यात्रा में चलेंगे। मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि भारत जोड़ो यात्रा से भाजपा की नींद उड़ी हुई है।
प्रभारी मंत्री जिलों में करेंगे योजनाओं की मॉनिटरिंग।
इससे पहले प्रेस ब्रीफिंग करते हुए मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि कैबिनेट की बैठक में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने तमाम मंत्रियों को निर्देश दिया कि वो अपने प्रभार वाले जिलों में जाकर योजनाओं की मॉनिटरिंग करें।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack