युवाओं को मिले गुणवत्तापूर्ण कौशल प्रशिक्षण-मंत्री अशोक चांदना।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
कौशल, नियोजन एवं उद्यमिता राज्य मंत्री अशोक चांदना ने युवाओं को गुणवत्तापूर्ण कौशल प्रशिक्षण देने पर जोर देते हुए कहा कि जो ट्रेनिंग पार्टनर अच्छा कार्य कर रहे हैं, उनके लक्ष्य बढ़ाएं ताकि उन्हें प्रोत्साहन मिले और बेहतर नतीजे सामने आएं। चांदना शासन सचिवालय में विभागीय अधिकारियों के साथ राजस्थान कौशल एवं आजीविका विकास निगम (आरएसएलडीसी), औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आईटीआई) एवं रोजगार विभाग की समीक्षा कर रहे थे।  चांदना ने आरएसएलडीसी अधिकारियों को त्वरित निर्णय लेते हुए लम्बित प्रकरणों का निस्तारण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जिन ट्रेनिंग पार्टनर ने मानकों के मुताबिक संतोषजनक कार्य किया है, उनका समय पर भुगतान करें। उन्होंने फील्ड में विशेष कौशल से संबंधित कार्य करने वाले लोगों से जोड़कर युवाओं में कौशल विकास करने के लिए कार्य योजना बनाने के निर्देश दिए। कौशल, नियोजन एवं उद्यमिता विभाग के शासन सचिव पीसी किशन ने पारदर्शिता के साथ पूरी क्षमता से कौशल प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाने के निर्देश दिए। उन्होंने आईटीआई में उपलब्ध अतिरिक्त संसाधनों का उपयोग करते हुए आरएसएलडीसी के प्रशिक्षण कार्यक्रमों के माध्यम से युवाओं को प्रशिक्षित करने के निर्देश दिए। आरएसएलडीसी एमडी रेणु जयपाल ने बताया कि विभिन्न योजनाओं में प्रशिक्षण के लक्ष्य निर्धारित कर कार्यवाही की जा रही है। लम्बित भुगतान संबंधित प्रकरणों का क्रमबद्ध ढंग से निस्तारण किया जा रहा है। बैठक में विभिन्न कौशल योजनाओं के लक्ष्य एवं प्रगति के संबंध में विस्तार से जानकारी दी गई। रोजगार विभाग के अधिकारियों ने बताया कि मुख्यमंत्री युवा संबल योजना के तहत एक लाख 95 हजार युवाओं को बेरोजगारी भत्ता दिया जा रहा है। बैठक में आरएसएलडीसी के महाप्रबंधक खेमाराम यादव, सतीश महला, डीपी सैनी सहित आईटीआई एवं रोजगार विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack