देश के अनूठे राजनैतिक आख्यान संग्रहालय का अवलोकन कर रोमांचित हुए विद्यार्थी।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
राजस्थान विधान सभा अध्यक्ष डॉ. सी.पी. जोशी की पहल पर बाल दिवस के मौके पर विद्यार्थियों ने विधानसभा परिसर में नवनिर्मित राजनैतिक आख्यान संग्रहालय का अवलोकन किया। निःशुल्क प्रवेश के पहले दिन राजकीय और निजी विद्यालयों के करीब 500 छात्र-छात्राओं ने फोटोग्राफ, वीडियो और अन्य अत्याधुनिक तकनीक माध्यमों से लोकतंत्र, विधानसभा के कार्य, प्रशासनिक प्रणाली और जनप्रतिनिधियों व राजनीतिक नायकों के सार्वजनिक जीवन के सफर को देखा। 
विधानसभा भवन की ऊपरी व निचले भूतल में 26 हजार वर्ग फीट में बने इस विशाल संग्रहालय में पारंपरिक कलात्मकता और आधुनिक तकनीकी के बेजोड. प्रस्तुतीकरण के जरिये विद्यार्थियों ने मंत्रिमंडल, विपक्ष के नेता और अन्य जनप्रतिनिधियों की भूमिका के बारे में जाना। यहां टॉक विद स्पीकर स्टूडियो और अन्य गतिविधियों में भाग लेकर विद्यार्थियों ने रोमांच का अनुभव किया।विधानसभा सचिव महावीर प्रसाद शर्मा ने संग्रहालय देखने आए बच्चों से संवाद किया। उन्होंने कहा कि बच्चे देश का भविष्य हैं और उन्हें लोकतंत्र की विशेषताओं की जानकारी होनी चाहिए। इसके बिना लोकतंत्र सुदृढ़ नहीं हो सकेगा। उन्होंने बताया कि आज से एक महीने तक विद्यार्थी इस संग्रहालय का निःशुल्क अवलोकन कर सकेंगे। उल्लेखनीय है कि 29 जुलाई, 2019 को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजस्थान विधान सभा भवन में एक अत्याधुनिक राजनैतिक आख्यान संग्रहालय बनाने की घोषणा की थी। 16 जुलाई 2022 को भारत के तत्कालीन मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति एन.वी. रमणा ने इस संग्रहालय का उद्घाटन किया था। जयपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड (जेएससीएल) द्वारा निर्मित यह संग्रहालय 30 इमर्सिव गैलरी के माध्यम से राजस्थान के राजनैतिक आख्यानों को प्रदर्शित करता है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack