जल जीवन मिशन की धीमी गति पर जिला कलेक्टर ने जताई नाराजगी।

करौली ब्यूरो रिपोर्ट।
जिला कलेक्टर अंकित कुमार सिंह ने सोमवार को जल जीवन मिशन के तहत हर घर नल से जल पहुंचाने के संबंध मे बैठक की अध्यक्षता करते हुए नाराजगी व्यक्त की कि जिले मे जल जीवन मिशन की प्रगति बहुत कम है और अधिकारियो द्वारा मॉनिटरिंग नही करना भी इसका एक कारण है।उन्होने कहा कि सभी अधिकारी योजना की प्रगति के लिये नियमित मॉनिटरिंग करें उन्होने यह भी निर्देश दिये कि पानी के स्त्रोत जिनका कार्य पूरा हो गया है, फिजिकल वेरिफिकेशन जहां जहा टंकी बनकर पूर्ण हो गई है और जहां हर घर मे नल के माध्यम से पानी पहुंचने लगा है उनकी जियोटेगिंग कर एक सप्ताह मे अपलोड करने एवं स्वीकृत कार्याे के एग्रीमेन्ट साईन सहित अपलोड करने के निर्देश भी दिये। जिला कलेक्टर ने इंम्लीमेट सपोर्टिंग ऐजेन्सी द्वारा कार्य मे ढिलाई पर नाराजगी व्यक्त करते हुए निर्देश दिये कि लोगो से संपर्क करें और निर्धारित राशि जमा कराकर लोगो को जल उपलब्ध करायें। उन्होने कहा कि लोगो को जागरूक करने के साथ ही उन्हे प्रशिक्षित करना भी अतिआवश्यक है तभी उपलब्धि होगी। लेकिन इंम्लीमेन्ट सपोर्टिंग ऐजेन्सी द्वारा कार्य नही किया जा रहा है यह गंभीर बात है अगली बैठक मे प्रगति के साथ उपस्थित होने के निर्देश दिये। अन्यथा ऐजेन्सी के अधिकारियों के विरूद्ध उच्च अधिकारियों को लिखा जायेगा। जिला कलेक्टर ने जल जीवन मिशन के तहत पानी की शुद्धता की जांच एवं शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के संबंध मे ब्लॉक स्तर पर प्रशिक्षण कार्यक्रम नवम्बर तक तय एवं सूचीबद्ध कर 1 दिसम्बर से प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करें साथ ही विद्यालयों मे बच्चों की प्रतियोगिताऐं, गांवों मे रैली एवं नुक्कड नाटक आदि के माध्यम से लोगो को जलजीवन मिशन की योजना के बारे मे जागरूक करें। बैठक मे अति. मुख्य कार्यकारी अधिकारी राजेश कुमार मीना, जलदाय विभाग के अधीक्षण अभियंता परशराम वर्मा, अधिशाषी अभियंता अरूण कुमार एवं सहायक अभियंता, कनिष्ठ अभियंता सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे। जलजीवन मिशन की प्रगति के बारे मे प्रोजेक्टर के माध्यम से डीपीएमयू अंकित कास्था ने विस्तार से जानकारी दी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack