बाल अधिकार सप्ताह उत्सव का हुआ आयोजन।

हनुमानगढ़-विश्वास कुमार।
हनुमानगढ़ जिले के रावतसर कस्बे मे नागरिक अभिनंदन व बाल अधिकार सप्ताह उत्सव का आयोजन किया गया। ये आयोजन साइंस एकेडमी एसएसडी स्कूल रावतसर औरदा सक्सेस एकेडमी गुरु जंभेश्वर द्वारा पीजी कॉलेज ने संयुक्त रूप से किया गया है। इस अवसर पर महेंद्र सुथार द्वारा पैरा ओलंपिक 22 वीं नेशनल पैरा चैंपियनशिप 2022 की तेराकी प्रतियोगिता में 50 मीटर बैक स्टॉक तथा 100 मीटर बैक स्टॉक में ब्रोंज मेडल जीतने पर उनका स्वागत किया गया है। इस कार्यक्रम के अध्यक्ष जितेंद्र गोयल चैयरपर्सन सीडब्ल्यूसी न्यायपीठ हनुमानगढ़ मुख्य अतिथि, विशिष्ट अतिथि पूनम चौहान राजस्थान पुलिस डीवाईएसपी रावतसर,डॉक्टर सुभाष सोनी प्रोफ़ेसर एनएमपीजी कॉलेज, खयाली सहारण वरिष्ठ हास्य कलाकार,भारत धर्मपाल सुथार पार्षद प्रतिनिधि,रविंद्र गोदारा,सुरेंद्र शर्मा आदि मंच पर मौजूद रहे। सुरेंद्र एवं रविंद्र ने अतिथियों का स्वागत किया है पैरा ओलंपिक ब्रोंज विजेता महेंद्र का साफा पहनाकर स्वागत किया गया साथ ही अतिथियों ने महेंद्र सुथार की तारीफ करते हुए कहा की सुथार ने अपने बड़ोपल गांव का ही नहीं हनुमानगढ़ जिले के साथ साथ राजस्थान का नाम सुनहरे पटल पर दर्ज करवाया है। इस मौके पर कार्यक्रम अध्यक्ष सीडब्ल्यूसी अध्यक्ष जितेंद्र गोयल ने बच्चों को शिक्षा के साथ-साथ संस्कारित बनने को प्रेरित किया तथा बाल अधिकारों के बारे में बच्चों का अवगत कराया तथा बाल विवाह बालश्रम ,भिक्षावृत्ति मुक्त हनुमानगढ़ बनाने की बात कही एवं शिक्षा से वंचित बच्चों को शिक्षा से जोड़ने के लिए प्रेरित किया चाइल्ड लाइन 1098 की जानकारी सांझा करते हुए बच्चों की सुरक्षा के लिए सीडब्ल्यूसी की और से बच्चो को सुरक्षा के प्रति आश्वस्त किया शिक्षा के साथ साथ संस्कारित बनने और लक्ष्य निर्धारित कर आगे बढ़ने का आह्वान किया पूनम चौहान डीवाईएसपी ने बच्चों को पढ़ाई के साथ-साथ स्पोर्ट्स का चुनाव करने को कहा क्योंकि खेल ऊर्जा एवं सकारात्मकता को बढ़ाता है तथा प्रशासनिक सेवाओं के बारे में बच्चों को जानकारी दी एवं बताया कि सभी विषयों में बराबर समय देते हुए सभी को अच्छे से तैयारी करें अपने लक्ष्य का निर्धारण कर मेहनत करें एवं एक बड़े सपने का चयन करें और उसके लिए अपनी सारी क्षमता लगा दे। सोशल मीडिया से दूरी बनाए मोबाइल से दूर रहें एवं शिक्षकों तथा माता-पिता की आज्ञा का पालन करते रहे और बच्चों को बाल अधिकारों की जानकारी दी। ख्याली सहारण ने बच्चों को मोटिवेट किया बच्चों को हंसते खेलते पढ़ने के लिए प्रेरित किया ताकि अपनी मंजिल को पा सके तथा इन्होंने महेंद्र को ट्रेनिंग देने एवं मोटिवेट करने में अपनी महती भूमिका निभाई। महेंद्र ने बताया कि जिंदगी में एक्सीडेंट से मुझे बहुत कुछ सीखने को मिला एक्सीडेंट से लेकर वहींल चेयर पर वहिल चेयर से खेल तक अपनी जिद में जुनून से पहुंचा हूं आदमी खेल के माध्यम से देश के तेराकी प्रतियोगिता में हिस्सा लेकर राज्य स्तर पर गोल्ड मेडल एवं नेशनल में ब्रॉन्ज मेडल लेकर आज आपके सामने मौजूद हूं। आपको बताना चाहता हूं कि शुरुआत करने के लिए आपको शुरू में कठिनाई का सामना करना पड़ेगा। वह लक्ष्य तथा संघर्ष जितना बड़ा होगा जीत उतनी ही बड़ी होगी। इस संघर्षपूर्ण जीवन में जहां मेरे से चलना संभव नहीं था। आज हैंड कंट्रोल कार करवा कर सुरक्षित ड्राइव करता हूं। इनकी ड्राइव एक प्रेरणा स्रोत के रूप में हमारे सामने है। अतिथियों का सम्मान सुरेंद्र एवं पंकज तथा रविंद्र ने किया तथा सुरेंद्र ने बताया कि ज़िद एवं जुनून से हर लक्ष्य को प्राप्त किया जा सकता है। कार्यक्रम का संचालन महेंद्र गोदारा एवं राजेंद्र ने किया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack