वनरक्षक भर्ती परीक्षा का पेपर सोशल मिडिया पर वायरल, पहले दिन की दूसरी पारी की परीक्षा निरस्त।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
वनरक्षक भर्ती परीक्षा की आंसर शीट सोशल मीडिया पर शेयर होने की इस घटना से पेपर लीक माना जा रहा है। पुलिस ने इस मामले में बिजली विभाग कर्मचारी सहित दो युवकों को गिरफ्तार किया है। राजस्थान अधीनस्थ कर्मचारी बोर्ड के अध्यक्ष हरिप्रसाद शर्मा ने कहा कि इस घटना की जानकारी मिली है और पुलिस और एसओजी कार्रवाई कर रही है । बोर्ड को तथ्यात्मक जानकारी मिलेगी तो इस पर निर्णय लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि फिलहाल परीक्षा स्थगित करने की कोई बात नहीं है। दरअसल शनिवार को राजसमंद के रेलमगरा थाना क्षेत्र में पहली पारी के पेपर का फोटो खींचकर आंसर शीट सोशल मीडिया पर आ गई थी। मामले में पुलिस ने करौली के दीपक शर्मा को हिरासत में लिया था। दीपक ने पूछताछ में बताया कि दौसा में लालसोट क्षेत्र के गांव अजयपुरा के हेमराज मीणा से उसने पेपर लिया।पुलिस की विशेष टीम ने परीक्षा देकर लौटते वक्त मोबाइल लोकेशन ट्रेस के आधार पर लालसोट रेलवे स्टेशन के पास से हेमराज मीणा को हिरासत में लिया। दौसा के पीजी कॉलेज में हेमराज का सेंटर आया था। हेमराज ने परीक्षा शुरू होने के साथ ही आंसर शीट भेजने की बात स्वीकार की है। कोतवाली पुलिस हेमराज से भी पूछताछ कर रही है। करौली निवासी दीपक शर्मा उदयपुर में बिजली निगम में नौकरी करता है। वह रेलमगरा में तकनीकी सहायक है। उसने जिन-जिन को पेपर भेजने की बात कही, वहां संबंधित पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है। हेमराज मीणा जयपुर में किराए से रहकर प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी करता है। पुलिस की विशेष टीम ने जयपुर, करौली, उदयपुर सहित प्रदेशभर में कुछ और युवकों की तलाश की जा रही है।
पहले दिन की दूसरी पारी की परीक्षा को किया निरस्त।
इधर वनरक्षक सीधी भर्ती परीक्षा का पेपर सोशल मिडिया पर वायरल होने के बाद कर्मचारी चयन बोर्ड ने तुरंत एक्शन लेते हुए परीक्षा के पहले दिन की दूसरी पारी की परीक्षा को निरस्त कर दिया है। परीक्षा 2:30 से 4:30 तक आयोजित की गई थी। राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड ने इस बाबत आदेश जारी किये है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack