मोदी सरकार किसानों के लिए लागू करे न्यूनतम समर्थन, नहीं तो होगा आंदोलन-मलिक

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
पूर्व राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा कि मोदी सरकार किसानों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य लागू करने का फैसला करें नहीं तो वापस से एक बार फिर आंदोलन किया जाएगा। पिंक सिटी प्रेस क्लब में पूर्व राज्यपाल सतपाल मलिक ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि अडानी ने हरियाणा में गेहूं के गोदाम भर दिए, जबकि किसानों के गेहूं का उन्हें दाम ही नहीं मिल रहा है। उन्होंने कहा कि 11 दिसंबर को संयुक्त किसान मोर्चे की ओर से काला दिवस मनाया जाएगा।पूर्व राज्यपाल मलिक ने राजस्थान में ओबीसी आरक्षण पर चल रही विसंगतियों के मसले पर कहा कि इससे छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं होगी। जिन जातियों को इसका लाभ मिल रहा है, उन्हें यह लाभ मिलता रहना चाहिए। यदि किसी सेवानिवृत्त या अन्य जातियों को यह लाभ देना है तो वह अलग से दिया जाए। इसके कोटे में कोई कटौती नहीं होनी चाहिए। पूर्व राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कांग्रेस के नेता राहुल गांधी की तारीफ की और कहा कि ऐसी यात्राएं सभी नेता करेंं। उन्होंने कहा कि देश में महंगाई, गरीबी, बेरोजगारी चरम पर है। इसे यदि ठीक नहीं किया गया तो वापस से संघर्ष शुरू हो जाएगा। उन्होंने सीएम अशोक गहलोत और सचिन पायलट को सलाह देते हुए कहा कि उन्हें मिलकर के काम करना चाहिए।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack