बार बार तबादलों से परेशान होकर तहसीलदार ने की आत्महत्या।

धौलपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
धौलपुर जिले के बाड़ी सदर थाना क्षेत्र के गांव घड़ी जाखोदा निवासी एवं करौली जिले की मासलपुर तहसील में तैनात तहसीलदार आसाराम गुर्जर ने जंगल में पेड़ पर फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना के बाद परिजनों का रो रोकर बुरा हाल है। पुलिस ने डेड बॉडी को कब्जे में लेकर जिला अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया है। हालांकि आत्महत्या के कारण स्पष्ट नहीं हो सके हैं। जानकारी के अनुसार 35 वर्षीय आसाराम गुर्जर पुत्र दीवान सिंह गुर्जर का हाल ही करौली जिले की मासलपुर तहसील में तबादला हुआ था। तहसीलदार के पद पर पदभार ग्रहण करने के बाद वह अपने गांव गढ़ी जखौदा गए थे। बताया जा रहा है कि शनिवार दोपहर को वह जंगल में चला गया था। जहां पेड़ से फंदा लगा आत्महत्या कर ली। पास ही में बकरी चरा रहे किसान ने लटका हुआ शव देखकर घटना की सूचना परिजनों को दी। आनन-फानन में परिजनों ने आसाराम को जिला अस्पताल में भर्ती कराया। लेकिन तब तक उसकी सांसे थम चुकी थी।जिला अस्पताल के चिकित्सकों ने स्वास्थ्य परीक्षण कर उन्हें मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने डेड बॉडी को कब्जे में लेकर जिला अस्पताल के शवगृह में रखवा दिया है। परिजनों से मिली जानकारी के अनुसार, चार भाइयों में सबसे छोटे आसाराम गुर्जर थे। चारों भाई सरकारी नौकरी में हैं। डेढ़ वर्ष पूर्व आसाराम गुर्जर की शादी हुई थी। उनके एक बेटी भी है। अभी तक आत्महत्या के कारण स्पष्ट नहीं हो सके हैं। परिजनों का आरोप है कि लगातार हो रहे तबादलों से आसाराम काफी परेशान थे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack