जन कल्याणकारी योजनाओं को बेहतर ढंग से क्रियान्वयन हेतु अधिकारी नियमित रूप से करें निरीक्षण- जिला प्रभारी सचिव।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
जिला प्रभारी सचिव सुधांश पंत ने कहा कि राज्य सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं को बेहतर ढंग से क्रियान्वयन करने के लिये अधिकारी नियमित रूप से धरातल पर निरीक्षण किया जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि जब भी कोई अधिकारी निरीक्षण करने के लिये जाये तो वह अपने विभाग की योजनाओं के साथ-साथ अन्य विभाग की योजनाओं का भी निरीक्षण करें। जिला प्रभारी सचिव पंचायत समिति झोटवाड़ा के सभागार में आयोजित बैठक के दौरान फ्लैगशिप योजनाओं की प्रगति के बारे में समीक्षा कर रहे थे। 
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ हर व्यक्ति को मिले, इसके लिए शत-प्रतिशत लोगों का पंजीयन कराये। उन्होंने कहा कि ई-औषधि साफ्टवेयर के माध्यम से रियल टाइम बेसिस पर दवाईयों की उपलब्धता के बारे में मॉनिटरिंग की जाए। उन्होंने शुद्ध के लिये युद्ध अभियान के तहत की जा रही कार्यवाही के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी ली, जिस पर संबंधित अधिकारी ने बताया कि ब्लॉक लेवल पर 63 सैम्पल लिये गये है जिस पर प्रभारी सचिव ने कहा कि इस वर्ष लिये गये सैम्पल की संख्या कम है। इसलिये संबंधित अधिकारी को आगामी दिनों में प्रभावी कार्यवाही करते हुये सैम्पल की संख्या बढ़ाने के निर्देश दिये।जिला प्रभारी सचिव ने राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के तहत पोर्टल पर प्राप्त आवेदनों के बारे में जानकारी ली। जिस पर उपखण्ड अधिकारी ने बताया कि जयपुर शहर में 25 हजार आवेदन पोर्टल पर प्राप्त हो चुके है जिनका विभाग द्वारा जारी नियमों के अनुसार निस्तारण कर दिया जायेगा। उन्होंने जन-आधार कार्ड का प्रथम-स्टेज पर संबंधित अधिकारियों द्वारा शीघ्र वेरिफिकेशन करने के निर्देश दिये जिससे आमजन को जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ समय पर मिल सके। बैठक में पंचायत समिति झोटवाड़ा प्रधान रामनारायण झाझड़ा, अतिरिक्त जिला कलक्टर उत्तर बीरबल सिंह, उपखण्ड अधिकारी डॉ. राकेश कुमार मीणा, एसीईओ सुमन देवी, विकास अधिकारी झोटवाड़ा, डॉ सुमन सहित ब्लॉक स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack