जगजीवन गृह निर्माण सहकारी समिति के खिलाफ हुआ मामला दर्ज,आरोपी हुआ फरार।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
राजधानी जयपुर मे जगजीवन गृह निर्माण सहकारी समिति लि० जयपुर जिसके कर्ताधर्ता अरूप मुखर्जी के खिलाफ स्थानीय निवासियों ने धोखाधड़ी करने का पुलिस थाना मे मामला दर्ज कराया है। पुलिस मामला दर्ज करने के बाद जांच पडताल मे जुट गई है।
यह है पूरा मामला।
जानकारी के मुताबिक जगजीवन गृह निर्माण सहकारी समिति लि० जयपुर जिसके कर्ताधर्ता अरूप मुखर्जी निवासी मेन हवेली, हाथी बाबू का बाग, कान्ती नगर स्टेशन रोड, जयपुर हैं अरूप मुखर्जी ने कभी भी लोगों को जगजीवन गृह निर्माण सहकारी समिति लि० जयपुर का पट्टा बार- बार आग्रह करने के उपरान्त भी आज दिनांक तक नहीं दिया केवल प्रोविजनल पत्र एवं जगजीवन गृह निर्माण सहकारी समिति लि० जयपुर के नक्शे की प्रति दी गयी। अरूप मुखर्जी कई वर्षो से लोगो को तरह तरह के बहाने बना कर टालते आ रहे हैं एवं लोगों को धोखा देने की गरज से कभी भी भूखण्ड के मालीकाना हक से संबन्धित दस्तावेजात उपलब्ध नही करवाये।
अरूप मुखर्जी बार- बार यही कहते रहे हैं कि आप लोगों को घबराने की जरूरत नही है जगजीवन गृह निर्माण सहकारी समिति लि० जयपुर में जरिये रजिस्टर्ड विक्रय पत्र भूमि की जड़ खरीद की है। उसी भूमि पर जगजीवन गृह निर्माण सहकारी समिति लि० जयपुर में लोगों को भूखण्ड आवंटित किये हैं। जब राजस्थान सरकार द्वारा प्रशासन शहरों के संग अभियान के तहत जयपुर नगर निगम के माध्यम से प्लाटो का पट्टा देने की घोषणा की गयी तो लोगो नें अपने अपने भूखण्ड के पट्टे के लिये जयपुर नगर निगम (हेरीटेज) सिविल लाईन जोन, शास्त्री नगर जयपुर में आवेदन प्रस्तुत किया तो सभी लोग हक्के बक्के रह गये एवं सभी के होश उड़ गये जब इस बात का खुलासा हुआ एवं पता चला कि वे बहुत बड़ी धोखा धडी एवं षडयंत्र का शिकार हो चुके हैं जब पता चला कि जगजीवन गृह निर्माण सहकारी समिति लि० जयपुर जिसके कर्ताधर्ता अरूप मुखर्जी हैं के द्वारा कभी भी भूमि के स्वामित्व की जड खरीद नही की गयी है। जगजीवन गृह निर्माण सहकारी समिति लि० जयपुर ने उपरोक्त भूमि केवल किराये पर लेकर उपरोक्त भूमि पर धोखा धडी कारित करने की नियत से भूखण्ड पर प्लाट काट कर प्रार्थीगण को आवंटित कर दिये। जगजीवन गृह निर्माण सहकारी समिति लि० जयपुर द्वारा दिये गये प्रोविजनल पत्र प्रार्थीगण को केवल धोखा देने की नीयत से दिये गये जो कि केवल एक फर्जी कूटरचित दस्तावेज है। अरूप मुखर्जी मंत्री जगजीवन गृह निर्माण सहकारी समिति लि० जयपुर के विरूद्ध कानूनी कार्यवाही करने को मजबूर हो गये। लोगों ने न्यायालय की शरण में जाकर पुलिस थाना सिंधी कैम्प जयपुर में प्रथम सूचना रिपोर्ट संख्या 182 / 2022 दिनांक 02/11/2022 को जरिये इस्तगासा अंर्तगत धारा 420, 406 467, 468, 471 भारतीय दण्ड करवायी। मुकदमा दर्ज होने के उपरांत से लोगो में भारी रोष व्याप्त है क्योंकि उनके साथ धोखाधड़ी की गयी है। मामला दर्ज होने के बाद से ही सोसाईटी का संचालक एवं कर्ताधर्ता अरूप मुखर्जी भूमिगत हो गया है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack