सीएम गहलोत के करीबी धर्मेंद्र राठौड के खिलाफ लामबंद हुए नेता, विप्र बोर्ड के अध्यक्ष ने खरगे से की शिकायत।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
राजस्थान विप्र कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष महेश शर्मा ने कहा कि धर्मेंद्र राठौड़ और विजय बैंसला की 3 नवम्बर को मुलाकात हुई है। उसके बाद से ही राहुल गांधी की यात्रा को लेकर धमकियों का दौर शुरू हो गया। कांग्रेस के लोगों से तो ये मुलाकात करते नहीं है फिर भाजपा के आदमी से ऐसी क्या जरूरत पड़ी मुलाकात करने की। राठौड़ को आगे आकर बताना चाहिए कि वे विजय बैंसला से क्यों मिले। राजस्थान विप्र कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष शर्मा ने दिल्ली में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मलिकार्जुन खड़गे से मुलाकात कर हकीकत बताई। उन्होंने कहा कि बदनाम करने के लिए यह सब कुछ साजिश रची जा रही है । उन्होंने कहा कि कहा कि राहुल गांधी तो पार्टी को मजबूत करने का काम कर रहे हैं। वहीं ये लोग राहुल गांधी को ही कमजोर करना चाह रहे हैं। ये संयोग कैसे हो सकता है। उन्होंने कहा कि पुष्कर में भी विजय बैंसला की सभा में धर्मेंद्र राठौड़ को बुलाया गया था। क्या ये भी संयोग है। ये लोग राहुल गांधी को चैलेंज कर रहे हैं। खड़गे को इनकी तस्वीर दिखाई है। वे देखकर काफी शॉक्ड हुए। उन्होंने इसकी जांच करने को कहा है। धर्मेंद्र राठौड़ और विजय बैंसला 3 नवम्बर को एक-दूसरे से मिले थे। बैंसला से मुलाकात की तस्वीरें खुद राठौड़ ने अपने ट्वीटर अकाउंट से शेयर की थी। उन्होंने लिखा था कि विजय बैंसला ने मुलाकात कर एमबीसी के रीट लेवल 1 के 233 अभ्यर्थियों के प्रकरण को लेकर चर्चा की। राठौड़ ने लिखा कि इस मौके पर बैंसला को जन्मदिन की बधाई भी दी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack