SBI को अपने खर्चे पर मूल दस्तावेज तैयार करवाकर देनेे के आदेश।

बूंदी ब्यूरो रिपोर्ट।
भारतीय स्टेट बैंक बाईपास बूंदी के पास सीसी लिमिट के गिरवी रखे मूल दस्तावेज परिवादी को नहीं लौटाने के मामले बैंक प्रबन्धन को अपने खर्चे पर दस्तावेज तैयार करवाकर परिवादी को देने के लिए जिला उपभोक्ता आयोग बून्दी के अध्यक्ष रविन्द्र कुमार माहेश्वरी, सदस्य विजेन्द्र सिंह एवं सन्तोष भाकल ने भारतीय स्टेट बैंक बाईपास बून्दी को आदेश जारी किया है। आयोग के समक्ष प्रस्तुत परिवाद में विकास नगर हाउसिंग बोर्ड बून्दी निवासी विनोद कुमार जाजू ने बताया कि सीसी लिमिट के लिए बैंक के पास मोरगेज रखे पंजीकृत लीज डीड, कन्वेन्स डीड, अप्रूवल नक्शा आदि बैंक के सीसी लिमिट का खाता बन्द करवा देने के उपरांत बैंक पास रखे असल दस्तावेज लौटाने के लिए कहने पर बैंक द्वारा टालमटोल करते हुए दस्तावेज नहीं लौटाए जाना बैंक द्वारा सेवा में दोष कारित करना बता कर उपभोक्ता आयोग में परिवाद प्रस्तुत किया था। जिसमें मूल दस्तावेज एवं मानसिक सन्ताप व परिवाद व्यय की राशि दिलवाने की प्रार्थना की गई थी। 
परिवाद का निस्तारण करते हुए आयोग ने आदेश दिया कि मूल दस्तावेजों की सत्यापित प्रतिलिपियां परिवादी को अपने खर्चे पर उपलब्ध करवाएं। साथ ही मानसिक सन्ताप के 25 हजार रूपए एवं परिवाद व्यय के पेटे 10 हजार रू भी देने होंगे। उक्त राशि जिम्मेदार रहे बैंक अधिकारियों, कर्मचारियों से वसूल की जाकर उसकी सूचना आयोग को प्रेषित करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही निर्देश दि है कि निर्णय की एक प्रति बैंक के प्रधान कार्यालय को संबंधित बैंक अधिकारियों के विरूद्व कर सूचित किए जाने हेतु प्रेषित की जाए।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack