भगवान परशुराम कुंड आमंत्रण यात्रा ने हनुमानगढ़ मे किया प्रवेश।

हनुमानगढ़-विश्वास कुमार।
भगवान परशुराम कुंड आमंत्रण यात्रा के हनुमानगढ़ जिले में प्रवेश पर ब्रह्माणी माता की पवित्र धरा पल्लू में स्वागत किया गया। स्वागत कार्यक्रम में प्रदेश महामंत्री दिनेश दाधीच, प्रदेश सचिव जसवीर शर्मा, विप्र फाउंडेशन पल्लू के अध्यक्ष दिलीप भारद्वाज एवं एवं पल्लू के गांव- ढाणियों से आए हुए सभी विप्र बंधु उपस्थित थे। प्रदेश महामंत्री दिनेश दाधीच के नेतृत्व में अर्जुनसर चौराहे पर रथ यात्रा का भव्य पुष्प वर्षा के साथ सभी विप्र बंधुओं ने स्वागत कर पूजा अर्चना की गई।
रथ यात्रा के साथ विप्र फाउंडेशन के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी माधव शर्मा विप्र वाहिनी के प्रदेश अध्यक्ष मुकेश रामपुरा तथा पूरी यात्रा में साथ चल रहे गुरु महाराज का माला पहनाकर स्वागत किया गया। इसके पश्चात गुरु महाराज से आशीर्वाद प्राप्त किया।प्रदेश महामंत्री दिनेश दाधीच ने पूरे भारतवर्ष में चल रही परशुराम कुंड आमंत्रण यात्रा के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी तथा बताया कि अरुणाचल प्रदेश मैं लोहित नदी पर धार्मिक नगरी का विस्तार हो रहा है। जहां परशुराम कुंड की स्थापना की जा रही है। जिसमें विप्र फाउंडेशन द्वारा 51 फुट भगवान परशुराम की मूर्ति की स्थापना अष्टधातु से शीघ्र की जाएगी। विप्र वाहिनी के प्रदेशाध्यक्ष मुकेश रामपुरा ने सभी युवाओं को अपील की कि इस पुण्य कार्य में अपनी सहभागिता सुनिश्चित करें तथा समाज के कार्य में बढ़ चढ़कर हिस्सा लें विप्र फाउंडेशन की सभी योजनाओं का अधिक से अधिक समाज के प्रत्येक वर्ग तक लाभ पहुंचाएं। मीडिया प्रभारी माधव शर्मा ने बताया कि पूरे भारतवर्ष में यात्रा का सर्व समाज द्वारा जगह-जगह भव्य स्वागत किया जा रहा है तथा वर्ष 2023 के मार्च-अप्रैल में अरुणाचल प्रदेश की लोहित नदी पर मूर्ति स्थापना को लेकर कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। जिसका संदेश पूरे भारतवर्ष में सभी शहरों में जाकर विप्र समाज तक पहुंचाया जाने का कार्य रथयात्रा द्वारा किया जा रहा है। इस मौके पर भंवर लाल खंडेलवाल, सरपंच प्रतिनिधि हरि जोशी, मुरारी जोशी, जसवंत खण्डेलवाल, दलीप भारद्वाज, श्रवण जोशी, ठेकदार राजू शर्मा, गंगाधर खंडेलवाल, पवन जोशी, धनराज मटोलिया, कृष्ण जोशी जैतपुर, केशव पंचारिया, अमित जाजड़ा, संजय शर्मा, दुर्गाराम जाजड़ा, भंवर लाल जोशी, भालाराम उपाध्याय, राजेश जोशी, परमेश्वर टेलर, लालचंद पंचारिया  आदि मौजूद रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack