श्रद्धा से मना तुलसी पूजन दिवस मनाया।

नागौर ब्यूरो रिपोर्ट।
नागौर जिले के पादूकलां कस्बे सहित आसपास ग्रामीण आंचल में रविवार को तुलसी दिवस बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। तुलसी दिवस पर मंदिरों में धार्मिक कार्यक्रम आयोजित किए गए। तुलसी पूजन दिवस पर तुलसी माता की विधिवत पूजा अर्चना कर परिवार की खुशहाली की कामना की गई। चारभुजा मंदिर परिसर में चारभुजा महिला मंडल द्वारा भजन कीर्तन के साथ विधिवत पूजा-अर्चना संकल्प लिया है कि हर घर घर में तुलसी लगाने का आह्वान और निशुल्क वितरित की जाएगी। तुलसी पूजा की परंपरा पौराणिक काल से चली आ रही है। हिंदू धर्म में तुलसी पूजा की परंपराओं प्राचीनकाल से चली आ रही है। लगभग हर हिंदू परिवार के आंगन में तुलसी का पौधा जरूरत होता है। सुबह शाम श्रद्धा भाव से इसकी पूजा की जाती है। तुलसी को लक्ष्मी का रूप माना जाता है। ऐसी मान्यता है कि यदि घर में तुलसी का पौधा हरा भरा हो तो घर में सुख-शांति बनी रहती है। तुलसी पूजा से बुरे विचारों का नाश होता है। पद्म पुराण के अनुसार तुलसी पत्ते से टपकता हुआ जल यदि मनुष्य अपने सिर पर लगाता है तो इतना करने पर से उस मनुष्य को गंगा स्नान और 10 गोदान का फल मिलता है। तुलसी पूजा से रोग नष्ट होते हैं और अच्छा स्वास्थ्य प्राप्त होता है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack