संविदा पर कार्यरत भष्ट्र अधिकारी पर सवाल पर मंत्री खाचरियावास ने किया किनारा।

चित्तौड़गढ़-गोपाल चतुर्वेदी।
राजस्थान सरकार में खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री एवं चित्तौड़गढ़ जिले के प्रभारी मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने देश में कोरोना की लहर होने से इनकार करते हुए कहा कि पूरी भाजपा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी की पूरे देश में निकाली जा रही भारत जोड़ो यात्रा से भयभीत होकर कोरोना को लाने का बहाना कर रहे हैं। उन्होंने भाजपा पर झूठ और फरेब की राजनीति करके आमजन को गुमराह करने का भी आरोप लगाया।राजस्थान सरकार के 4 वर्ष पूरे होने के अवसर पर लगाई गई जिला स्तरीय विकास प्रदर्शनी का उद्घाटन करने चित्तौड़गढ़ पहुंचे राजस्थान सरकार के मंत्री और जिले के प्रभारी मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने जनसुनवाई केंद्र में आयोजित पत्रकार वार्ता में सीधे शब्दों में कहां की भारत में कहीं पर भी कोरोना नहीं आ रहा है देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा के अन्य नेता सिर्फ कोरोना को लाने के बहाने राहुल की भारत जोड़ो यात्रा को प्रभावित करना चाह रहे हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की ओर से जारी की गई कोरोना की गाइडलाइन के साथ राज्यों को अलर्ट करने के मामले मे मंत्री खाचरियावास ने कहा कि कोरोना एक भी केस भारत और राज्य में नहीं है और आने वाले समय में भी कोरोना नहीं आएगा। सिर्फ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी की ओर से निकाली जा रही भारत जोड़ो यात्रा को रोकने के लिए कोरोना को बीच में लाया गया है। उन्होंने कहा कि पूरे भारत में भारत जोड़ो यात्रा को अच्छा समर्थन मिल रहा है इसी से भाजपा बौखलाई हुई है। चित्तौड़गढ़ यूआईटी में एक संविदा पर कार्यरत अधिकारी मनमोहन कुमावत के द्वारा भ्रष्टाचार किए जाने के मामले में पूछे गए एक सवाल पर मंत्री खाचरियावास अपने आप को बचाते हुए दिखाई दिए और कुछ भी कहने से इंकार कर दिया। उन्होंने कहा कि सरकार भ्रष्टाचार को रोकने के लिए प्रयासरत है। उन्होंने भाजपा की जन आक्रोश यात्रा को फ्लॉप शो करार देते हुए कहा कि भाजपा की ओर से निकाली जा रही जन आक्रोश यात्रा के रथ भी पंचर हो गए हैं। लोग टायर भी खोल कर ले गए हैं और आने वाले समय में एक बार फिर से प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनेगी। उन्होंने नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया को कटघरे में खड़े करते हुए कहां गए कटारिया एक वरिष्ठ विधायक हैं। लेकिन सरकार के द्वारा चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी उन्हें नहीं है। उन्होंने कटारिया को नसीहत दी कि आंकड़े कभी झूठ नहीं बोलते और उन्हें जो समस्या है वह सूचना के अधिकार में संबंधित जिला कलेक्टर से मांग ले।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack