मंत्री ममता भूपेश ने किया अमृता हाट बाजार का उद्घाटन।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
महिला एवं बाल विकास मंत्री ममता भूपेश ने जयपुर के जवाहर कला केन्द्र परिसर स्थित शिल्पग्राम में राष्ट्रीय अमृता हाट का शुभारम्भ किया। स्वंय सहायता समूहों की महिलाओं के हस्तनिर्मित आकर्षक उत्पादों की बिक्री और प्रदर्शन का यह मेला 23 दिसंबर से 1 जनवरी 2023 तक चलेगा। जिसमें जयपुर राईट अपनी मनपसंद के उत्पादों की खरीद कर सकेंगे। महिला बाल विकास मंत्री ममता भूपेश ने इस अवसर पर कहा कि ग्रामीण परिवेश की महिलाओं के द्वारा तैयार उत्पाद बेहतरीन कारीगरी और हुनर का उदाहरण है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की महिला सशक्तिकरण की मुहिम में जयपुर राईटस भी इनके उत्पादों को खरीद कर योगदान दे सकते हैं। भूपेश ने कहा कि राज्य सरकार आईएम शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजनाओं जैसी योजनाओं से महिलाओं को बैंकों द्वारा अनुदानित ऋण प्रदान कर, उन्हें उद्यमी के रूप में आगे बढ़ने के अवसर प्रदान कर रही है।
महिला एवं बाल विकास विभाग के निदेशालय महिला अधिकारिता द्वारा स्वंय सहायता समूह की महिलाओं को राष्ट्रीय अमृता हाट के माध्यम से जहां उनके उत्पादों की बिक्री के लिए बाजार उपलब्ध करवाया जाता है। वहीं जयपुरवासियों को एक ही जगह प्रदेशभर के हस्तनिर्मित उत्पादों की प्रर्दशनी एवं खरीददारी का अवसर मिलता है। किसी को दृष्टिगत रखते हुए राष्ट्रीय अमृता हाट का आयोजन प्रतिवर्ष किया जाता है। अमृता हाट में राजस्थान राज्य के सभी जिलों के महिला स्वंय सहायता समूहों के उत्पादो की प्रदर्शनी एवं बिक्री की जा रही है। राष्ट्रीय अमृता हाट में 140 से ज्यादा स्टाल्स पर महिलाओं को बेहतरीन कारीगरी के उत्पादों को बेचने का अवसर मिला है। जिसमें हैण्डीक्राफ्ट, कशीदाकारी, लाख की चूड़ियाँ, पेपरमेशी आईटम, सलवार सूट, टेराकोटा, आर्टिफिशियल ज्वैलरी, चिकन एवं जरी वर्क, कांच एवं पेच वर्क, सभी के पसंदीदा अचार, मुरब्बा, मसाले एवं अन्य हस्तनिर्मित आकर्षक उत्पाद उपलब्ध हैं। उल्लेखनीय है कि जयपुराइट्स अमृता हाट मेले में काफी रूचि दिखाते हैं तथा उन्हें साल भर इस मेले के लगने का इन्तजार रहता है क्योंकि अमृता हाट में हस्तनिर्मित उत्पादों के दाम भी वाजिब रहते हैं।मेला परिसर में आगन्तुकों समोसा, तंदूरी चाय, भेल-पूरी, चाय-कॉफी, आईसक्रीम एवं अनेक लजीज आईटम उपलब्ध हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack