तीनों बागी नेताओं पर आलाकमान कार्रवाई के पक्ष में नहीं।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कहा कि संसदीय कार्य मंत्री शांति धारीवाल, सरकारी मुख्य सचेतक और जलदाय मंत्री डॉ.महेश जोशी और राजस्थान पर्यटक विकास निगम अध्यक्ष धर्मेंद्र राठौड़ को अभी तक कोई क्लीन चिट नहीं दी गई है। कांग्रेस अनुशासन कमेटी के पास जांच पेंडिंग है। अभी उस पर फैसला नहीं हुआ है। हम अभी उस पर विचार कर रहे हैं। बुधवार दोपहर करीब ढाई बजे जयपुर पहुंचे केसी वेणुगोपाल ने जयपुर एयरपोर्ट पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए यह बात कही। उन्होंने कहा कि मैं भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होने आया हूं। राजस्थान में भारत जोड़ो यात्रा का बहुत अच्छा समर्थन मिल रहा है। कांग्रेस प्रवक्ता संदीप चौधरी के साथ वेणुगोपाल सवाई माधोपुर के लिए रवाना हो गए।सचिन पायलट ने इन तीनों नेताओं पर कार्रवाई की मांग कांग्रेस आलाकमान के सामने खुलकर उठा चुके हैं। कांग्रेस विधायक दिव्या मदेरणा, इंद्राज गुर्जर, वेदप्रकाश सोलंकी भी  सीएम गहलोत  गुट के बगावती नेताओं पर कार्रवाई की मांग कर चुके हैं। पिछले दिनों पूर्व कांग्रेस अनुशासन समिति के अध्यक्ष एके एंटनी कमेटी की फुल बेंच की बैठक हुई थी। इसमें सचिव तारीक अनवर, मेंबर अंबिका सोनी और जीआर राजू भी थे। सूत्रों के मुताबिक बगावत के बाद आलाकमान के भेजे गए नोटिस पर तीनों ने बिना शर्त माफी मांगी थी। बैठक में तीनों के जवाब पेश किए गए। बैठक में कार्रवाई को लेकर चर्चा हुई, लेकिन जांच पर मामला अब तक लंबित है। सूत्रों के मुताबिक कमेटी ने तीनों नेताओं के माफीनामे तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेजकर पूछा है कि मामले में क्या कार्रवाई की जाए। सोनिया के  कार्यालय से जवाब नहीं आया। इसलिए ऐसी चर्चाएं शुरू हो गईं कि तीनों नेताओं पर आलाकमान कार्रवाई के पक्ष में नहीं है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack