कोविड प्रोटोकॉल के नाम पर केंद्र सरकार का भारत जोड़ो यात्रा रोकने का प्रयास, सचमुच चिंतित या जनसमर्थन से घबराई भाजपा?

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मनसुख मांडविया ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष व सांसद राहुल गांधी को कोविड-19 प्रोटोकॉल को लेकर पत्र लिखा है। जिसमें उनसे प्रोटोकॉल के अनुपालन की अपील की गई। लेकिन अब उनके पत्र पर सियासी वार-पलटवार शुरू हो गया है। मांडविया के पत्र पर सीएम अशोक गहलोत ने पलटवार किया। सीएम गहलोत ने कहा कि राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा में उमड़ी भीड़ से भाजपा और मोदी सरकार घबरा गई है। इसलिए अब वो कोविड-19 प्रोटोकॉल की बात कर रहे हैं। गहलोत ने कहा कि दो दिन पहले त्रिपुरा में प्रधानमंत्री की रैली थी, वहां किसी ने प्रोटोकॉल का पालन क्यों नहीं किया। लेकिन यह भाजपा के नेताओं को नहीं दिखता है।
जनसमर्थन से घबराई भाजपा।
मुख्यमंत्री ने ट्वीट करते हुए कहा कि राजस्थान में भारत जोड़ो यात्रा 21 दिसंबर की सुबह पूरी हो गई। लेकिन यहां उमड़ी भारी भीड़ से भाजपा और मोदी सरकार इतना घबरा गई है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री 20 दिसंबर को राहुल गांधी को राजस्थान में कोविड प्रोटोकॉल के पालन को लेकर पत्र लिखते है। गहलोत ने कहा कि ऐसे में यह स्पष्ट दिखाता है कि भाजपा भारत जोड़ो यात्रा से घबरा गई है और अब वो इस यात्रा को डिस्टर्ब करने की कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा कि दो दिन पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी त्रिपुरा में रैली किए थे, लेकिन वहां कोविड प्रोटोकॉल के पालन को लेकर कोई जिक्र तक नहीं था। सीएम ने कहा कि कोविड की दूसरी लहर के दौरान पीएम ने बंगाल में कई बड़ी रैलियां की थी। अगर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री का उद्देश्य राजनीतिक ना होकर उनकी चिंता जायज है तो उन्हें सबसे पहले प्रधानमंत्री को पत्र लिखना चाहिए था।
जन आक्रोश की निकली हवा।
वहीं खेल मंत्री अशोक चांदना ने कहा कि राहुल गांधी की यात्रा में जिस तरह से करोड़ों लोग घूम रहे हैं, उससे भाजपा घबरा गई है। राजस्थान में राहुल गांधी की यात्रा के समानांतर भाजपा ने जन आक्रोश यात्रा निकाली। लेकिन उनकी जनाक्रोश यात्रा की पूरी तरीके से हवा निकल गई। लोग जन आक्रोश यात्रा में शामिल ही नहीं हुए। चांदना ने कहा कि साउथ से लेकर नार्थ तक जिस तरह से लोग इस यात्रा में उमड़ रहे हैं और जनता का समर्थन व आशीर्वाद राहुल गांधी को मिल रहा है उससे भाजपा घबराई हुई है। चांदना ने कहा कि राहुल गांधी की जिस इमेज को 15 साल से भाजपा बिगाड़ रही थी। जिसके लिए वह बड़ा गेम प्लान कर रहे थे, वह गेम प्लान अब इस भारत जोड़ो यात्रा में पूरी तरीके से फेल हो गया है। इस की यात्रा ने सबके मुंह बंद कर दिए हैं। उन्होंने आगे कहा कि इस यात्रा से एक भावना खड़ी हुई है कि नफरत खत्म होनी चाहिए, भाईचारा बनना चाहिए, देश की एकता की बात होनी चाहिए, तभी देश आगे बढ़ेगा।
मांडविया ने लिखा ये लेटर।
बता दें, कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मनसुख मांडविया ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी को पत्र लिखा था। जिसमें उन्होंने राजस्थान के संसद सदस्य पीपी चौधरी, निहाल चंद और देवजी पटेल की ओर से लिखे गए पत्र का संदर्भ रखा। इसमें संसद सदस्यों ने राजस्थान में चल रही 'भारत जोड़ो यात्रा से फैल रही कोविड महामारी के संबंध में अपनी चिंता व्यक्त की थी और कोविड से राजस्थान और देश को बचाने के संदर्भ में निम्नलिखित दो महत्वपूर्ण बिंदुओं पर अनुरोध किया था। जिसमें पहला राजस्थान में चल रही 'भारत जोड़ो यात्रा' में कोविड गाइडलाइंस का सख्ती से पालन, मास्क व सैनिटाइजर के इस्तेमाल की बातें कही गई। इसके साथ ही कहा गया कि इस यात्रा में केवल वैक्सीनेटेड लोगों को ही हिस्सा लेने की अनुमति दी जाए। इसके इतर यात्रा में जुड़ने के पूर्व व पश्चात यात्रियों को आइसोलेट किए जाने के साथ ही दूसरा अगर उपरोक्त कोविड प्रोटोकॉल का पालन करना संभव नहीं हो तो पब्लिक हेल्थ इमरजेंसी की स्थिति को ध्यान में रखते हुए कोविड महामारी से देश को बचाने के लिए 'भारत जोड़ो यात्रा' को देशहित में स्थगित करें।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack