GST में शामिल कर देश में एक समान हो पेट्रोल और डीजल के दाम।

श्रीगंगानगर-राकेश मितवा।
संसदीय क्षेत्र श्रीगंगानगर से लोकसभा सांसद निहाल चन्द ने लोकसभा में शून्य काल के दौरान केंद्र सरकार का ध्यान श्रीगंगानगर व हनुमानगढ़ जिलों में बिक रहे देश के सबसे महंगे पेट्रोल और डीजल की ओर आकर्षित कर इस विषय में उचित कार्यवाही करते हुए इन जिले के किसानों, व्यापारियों और आमजन को राहत प्रदान करने की मांग की है। लोकसभा में सांसद निहाल चन्द ने बोलते हुए कहा कि श्रीगंगानगर व हनुमानगढ़ जिलों में पडोसी राज्यों पंजाब और हरियाणा से लगभग 10-17 रूपए तक महंगा पेट्रोल व डीजल बिक रहा है। जिसकी सीधी मार यहाँ के किसानों, व्यापारियों और आमजन पर पड़ रही है। इस समय राजस्थान में पेट्रोलियम उत्पादों पर सबसे ज्यादा वैट वसूला जा रहा है। जिस कारण इन सीमावर्ती जिलों में पेट्रोल और डीजल के दाम ज्यादा है। दाम ज्यादा होने के कारण इन पडोसी राज्यों से बड़े पैमाने पर पेट्रोल और डीजल की तस्करी हो रही है।लोकसभा सांसद ने हनुमानगढ़ जिले में पूर्व में एच.पी.सी.एल. कंपनी के बंद किये गए तेल डिपो को भी पुन: खोलने की मांग की है। सांसद ने केंद्र सरकार को बताया कि ये डिपो शहर से बाहर है, जिस कारण किसी भी अनहोनी का कोई अंदेशा नहीं है। लेकिन फिर भी कंपनी द्वारा इसे बंद कर दिया गया। जिस कारण अब इन जिलों में तेल जोधपुर से आ रहा है और अत्याधिक दूरी से उत्पाद आने के कारण यहाँ के लोगों को अतिरिक्त शुल्क का भी खामियाजा उठाना पड़ रहा है । कृषि क्षेत्र होने के कारण यहाँ डीजल की खपत अत्याधिक रहती है। लेकिन दाम अधिक होने के कारण किसानों पर अतिरिक्त बोझ पड़ रहा है। जिस कारण उनको आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ रहा है। सांसद निहाल चन्द ने केंद्र सरकार से प्रदेश द्वारा वैट राशि को कम करने, पेट्रोलियम उत्पादों को जी.एस.टी. में शामिल करने और हनुमानगढ़ में बंद पड़े तेल डिपो को पुन: खोलने की मांग करते हुए इन विषयों में केंद्र सरकार द्वारा सकारात्मक कार्यवाही की आशा व्यक्त की है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack