RPSC ने परीक्षा को लेकर जारी किए नए निर्देश, लापरवाही बरतने पर होगी सख्त कार्रवाई।

अजमेर ब्यूरो रिपोर्ट।
राजस्थान लोक सेवा आयोग  के जरिए वरिष्ठ अध्यापक (माध्यमिक शिक्षा विभाग) प्रतियोगी परीक्षा 2022 के संबंध में विशेष दिशा-निर्देश जिला प्रशासन और पुलिस अधिकारियों को जारी किए गए हैं। इसमें परीक्षा आयोजन एवं सतर्कता दलों से जुड़े निर्देशों की पालना को अक्षरशः सुनिश्चित किया जाने को कहा गया है।आयोग सचिव एचएल अटल ने बताया कि प्रश्न-पत्रों की सुरक्षा व्यवस्था को और अधिक प्रभावी बनाने के लिए विशेष कदम उठाए गए हैं।सुरक्षित स्थान पर प्रश्न-पत्र संधारण एवं वहां से परीक्षा केंद्रो तक पहुंचाने, परीक्षा उपरांत उत्तर-पत्रकों को पुनः सुरक्षित व गोपनीय रीति से सुरक्षित जमा किया जाएगा। इस पूरी कार्रवाई का पूर्ण पर्यवेक्षण सतर्कता दल व संबंधित जिलों के प्रशासन-पुलिस के अधिकारियों को सजगता पूर्वक करना होगा। प्रत्येक स्तर पर यह आवश्यक रूप से ध्यान रखा जाएगा कि समस्त परीक्षा केंद्रों एवं परीक्षा कक्षों में परीक्षा सामग्री पूर्ण गोपनीय व सुरक्षित रूप से पंहुचे। इस प्रक्रिया के साथ-साथ परीक्षा आयोजन की वीडियोग्राफी भी विशेषत कराई जाएगी। इसके लिए सभी परीक्षा केंद्रों पर 2 वीडियोग्राफर नियुक्त रहेंगे। उन्होंने कहा कि परीक्षा के दृष्टिगत एवं वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए संबंधित जिला प्रशासन व पुलिस तथा परीक्षा संचालन में नियुक्त सभी कार्मिकों को कर्तव्यों का पालन गुणवत्तापूर्ण व सावधानी से करने को कहा गया है। परीक्षा के सुगम संचालन में नियुक्त प्रशासनिक-पुलिस के अधिकारियों को हर स्तर पर दिशा-निर्देशों की पालना करना व करवाया जाना सुनिश्चित करना होगा। इनके के जरिए प्रश्न-पत्र सुरक्षित रखने, नियमों की पूर्ण पालना, परीक्षा केंद्रों तक प्रश्न पत्र पहुंचाने तथा परीक्षा केंद्रों की व्यवस्था संबंधी माॅनिटरिंग पूर्ण सजगता से की जाएगी। इसमें किसी भी स्तर की लापरवाही सामने आने पर नियमानुसार कठोर कार्रवाई को अमल में लाया जाएगा।
केंद्रों व्यवस्थाओं की बनेगी रिपोर्ट।
अटल ने कहा कि सतर्कता दलों को यह भी सुनिश्चित करना होगा कि आवंटित क्षेत्र के परीक्षा केंद्रों पर नियुक्त केंद्राधीक्षक, वीक्षकों व अन्य कार्मिकों के जरिए परीक्षा आयोजन संबंधी दिशा निर्देशों व सुरक्षा के सभी मानदंडों का पालन किया जा रहा है।परीक्षा की निष्पक्षता, गोपनीयता और सुरक्षा को पुख्ता करने के लिए परीक्षा आयोजन से जुड़े कार्मिकों को भी केंद्र में मोबाइल या अन्य कोई इलेक्ट्रॉनिक गैजेट के साथ प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा। परीक्षा संचालन से जुड़े कार्मिकों के जरिए परीक्षा देने वाले अभ्यर्थी की पहचान पूरी तरह सुनिश्चित की जाएगी। किसी भी अभ्यर्थी के पास कोई प्रतिबंधित सामग्री यथा मोबाइल, ब्लूटूथ या अन्य कोई संचार उपकरण न हो इसका विशेष ध्यान रखा जाएगा। प्रतिबंधित सामग्री पाए जाने पर तुरंत नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। इसमें किसी भी स्तर पर कोई अनियमितता नजर आने पर सतर्कता दलों के जरिए अपनी रिपोर्ट में स्पष्ट उल्लेखित किया जाएगा।
संदिग्धों पर रखी जाएगी विशेष नजर।
आयोग सचिव अटल ने बताया कि 24 दिसंबर को प्रातः पारी में आयोजित की जाने वाली ग्रुप-सी की सामान्य ज्ञान एवं शैक्षिक मनोविज्ञान परीक्षा का आयोजन आपराधिक तत्वों के अवांछित प्रयासों के कारण स्थगित करना पड़ा था। इस तरह की घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो इसके लिए परीक्षा केंद्र, प्रश्न-पत्रों की सुरक्षा, संदिग्ध व्यक्तियों व आसपास की गतिविधियों पर नजर रखते हुए अन्य व्यवस्थाओं को और सघन करने के निर्देश दिए गए हैं।
लापरवाही बरतने पर होगा तुरंत एक्शन।
आयोग सचिव अटल ने कहा कि राजस्थान सार्वजनिक परीक्षा अधिनियम 2022 के तहत नकल, प्रश्न-पत्र के अवैध कब्जे व प्रकटन आदि मामलों में परीक्षा आयोजन से जुड़े कर्मचारियों के विरूद्ध भी आपराधिक कार्रवाई का प्रावधान है। राज्य सरकार के जरिए 18 अक्टूबर 2021 को जारी परिपत्र के अनुसार परीक्षा आयोजन से जुड़े कार्मिक परीक्षा अवधि में आयोग के अधीन प्रतिनियुक्ति पर माने जाते हैं।ऐसे में किसी भी स्तर पर कार्मिकों के जरिए लापरवाही बरते जाने या कर्तव्य भंग की स्थिति सामने आने पर कठोर कार्रवाई की जाएगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack