18 सूत्रीय मांगों को लेकर मंत्रालयिक कर्मचारियों ने किया प्रदर्शन।

सवाई माधोपुर-हेमेन्द्र शर्मा।
सवाई माधोपुर में बुधवार को राजस्थान राज्य मंत्रालयिक कर्मचारी महासंघ के बैनर तले कर्मचारियों ने अपनी 18 सूत्री मांगों को लेकर कलेक्ट्रेट के समक्ष प्रदर्शन किया और मुख्यमंत्री के नाम जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा । कर्मचारियों ने ज्ञापन के माध्यम से बताया कि 2021 को सरकार के साथ हुवे समझौते के बाद भी उनकी कई मांगे आज तक सरकार के पास विचाराधीन है । कर्मचारियों ने सचिवालय के कर्मचारियों के समान वेतन भत्ते देने ,स्टेट पेरेटि के आधार पर कनिष्ठ सहायक की ग्रेड पे 3600 करने ,पदोन्नति के दूसरे पद सहायक प्रशासनिक अधिकारी की ग्रेड पे 3600 के स्थान पर 4200 करने, अतिरिक्त प्रशासनिक अधिकारी की ग्रेड पे 4800, प्रशासनिक अधिकारी की ग्रेड पे 66 एवं संस्थापन अधिकारी की ग्रेड पे 7600 करने, संस्थापन अधिकारी के बाद ग्रेड पे 8700 का नवीन पद वरिष्ठ संस्थापन अधिकारी के पदनाम से सृजित करने,वर्ष 2013 में किए गए प्रारम्भिक वेतन 9840 को पुर्नस्थापित कर सातवें वेतन आयोग में तदनुसार वेतन निर्धारण सम्बन्धी आदेश जारी करने, शैक्षणिक योग्यता सम्बन्धी प्रस्तावों पर कार्रवाई कनिष्ठ लिपिक, लिपिक/सहायक की योग्यता अधीनस्थ विभागों/ पंचायतीराज संस्थाओं/ निगमों/बोर्डों में स्नातक की जाए। राजस्थान के सभी संवर्गों की तरह मंत्रालयिक कर्मचारियों के लिए निदेशालय का गठन प्रशासनिक सुधार विभाग स्तर पर करने। पदोन्नति के नियमों में संशोधन करने तथा नियमों में संशोधन की कार्रवाई होने तक कार्मिक विभाग के परिपत्र की तर्ज पर मंत्रालयिक संवर्ग में पदोन्नति के सभी पदों पर वर्ष 2022-23 के लिए एक बारीय पूर्ण शिथिलन प्रदान करने । आश्वासित कैरियर प्रोन्नति स्कीम को 6, 12, 18, 24 के अंतराल से देने आदि की मांग की है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack