वन एवं वन्य जीवों के संरक्षण के लिये आगामी वर्ष में 298.57 करोड़ की योजना अनुमोदित-मुख्य सचिव

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
मुख्य सचिव उषा शर्मा की अध्यक्षता में जयपुर स्थित शासन सचिवालय के कॉन्फ्रेंस हॉल में वन विभाग की कम्पन्सेटरी अफोरेस्टेशन फंड मैनेजमेंट एंड प्लानिंग अथॉरिटी अर्थात कैम्पा ( राजस्थान प्रतिकरात्मक वनरोपण निधि प्रबंधन और योजना प्राधिकरण) की संचालन समिति की समीक्षा बैठक आयोजित की गयी। उल्लेखनीय है कि कम्पन्सेटरी अफोरेस्टेशन फंड के नियमों के तहत जारी राशि का उपयोग वन तथा वन्य जीव प्रबंधन एवं इनसे संबंधित आधारभूत संरचनाओं के सुदृढ़ीकरण में शामिल कार्मिकों की क्षमता निर्माण में किया जाता है। इससे वन एवं वन्य जीवों का संरक्षण होता है। समीक्षा बैठक में कैम्पा के वर्ष 2022-23 की वार्षिक कार्य योजना की समीक्षा करने के साथ ही वर्ष 2023-24 हेतु 298.57 करोड़ रूपये की वार्षिक कार्य योजना का अनुमोदन किया गया। इस वार्षिक कार्य योजना को केन्द्र सरकार की स्वीकृति मिलने की पश्चात् इसका क्रियान्वयन किया जायेगा जो कि वर्तमान वित्तीय वर्ष के 249.19 करोड़ रूपये की राशि से 49.38 करोड़ रूपये अधिक है। मुख्य सचिव उषा शर्मा ने वन विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि कैम्पा के तहत आवंटित राशि का पूर्ण उपयोग किया जावे। कैम्पा की मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं सदस्य सचिव शिखा मेहरा ने बैठक में कैम्पा की गतिविधियों एवं कार्य योजना के बारे में विस्तार से पावर पॉइंट प्रजेन्टेशन के माध्यम से अवगत करवाया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack