जेसीबी की चपेट में आने से भर भराकर गिरा शिव मंदिर, 3 श्रद्धालु दबे मलबे में, एक महिला की मौत।

करौली-विनोद कुमार जांगिड़।
करौली जिले के सपोटरा उपखंड मुख्यालय के नारौली डांग मोड़ के पास मंगलवार को नाली की खुदाई करते समय जेसीबी की चपेट में आने से एक शिव मंदिर भरभराकर गिर गया। जिससे मंदिर में पूजा कर रही दो महिलाओं समेत एक पुरूष जख्मी हो गया। हादसे में गंभीर रूप से जख्मी हुई दोनों महिलाओं को इलाज के लिए जयपुर के एसएमएस अस्पताल में भर्ती कराया गया। जिसमें से एक की मौत हो गई। वहीं, दूसरी महिला की स्थिति नाजुक बनी हुई है। मृतक महिला की शिनाख्त सीमा देवी पत्नी शिवजी गुप्ता के रूप में हुई है। इधर, मंदिर प्रबंधन की ओर से ठेकेदार और मुनीम के खिलाफ लापरवाही बरतने को लेकर मामला दर्ज कराया गया है।इस घटना के बाद स्थानीय लोगों ने प्रशासन के साथ मिलकर मलबे में दबे सभी लोगों को बाहर निकाला। जिन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सूचना के बाद करौली जिला कलेक्टर अंकित कुमार सिंह और पुलिस अधीक्षक नारायण सिंह टोंगस भी मौके पर पहुंचे और घटना की जानकारी लिए। वहीं दोनों बचाव कार्य के दौरान लगातार घटनास्थल पर बने रहे। दरअसल सपोटरा उपखंड मुख्यालय में इन दिनों पानी की निकासी के लिए नाली की खुदाई का काम चल रहा है। मंगलवार सुबह जेसीबी मशीन नारोली डांग मोड़ पर शिव मंदिर के पास खुदाई कर रही थी। तभी मंदिर जेसीबी की चपेट में आ गया और भरभराकर गिर गया। जिससे मंदिर में पूजा कर रहे श्रद्धालु जख्मी हो गए।
डीएम के सामने लोगों ने जताई नाराजगी।
घटनास्थल पर पहुंचे जिला कलेक्टर अंकित कुमार सिंह और पुलिस अधीक्षक नारायण सिंह टोंगस के समक्ष स्थानीयों ने अपनी नाराजगी जाहिर की। लोगों ने कहा कि ठेकेदार को पहले ही कार्य के बाबत सूचना देनी चाहिए थी। ताकि काम के दौरान श्रद्धालु मंदिर मे पूजा के लिए नहीं आते। वहीं, लोगों को सुनने के बाद कलेक्टर ने कहा कि ऐसी कोई भी मंशा नहीं थी कि मंदिर को तोड़ा जाए। साथ ही लापरवाही की जांच की जा रही है। यदि कोई दोषी पाया जाता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
मंत्री रमेश मीना ने हादसे पर जताया दुख।
राजस्थान सरकार में पंचायती राज एवं ग्रामीण विकास मंत्री एवं सपोटरा विधायक रमेश मीणा ने हादसे को लेकर दुख जताया है। उन्होंने जिला कलेक्टर अंकित कुमार सिंह से फोन पर घटना की जानकारी लेकर घायलों के बेहतर उपचार के निर्देश दिए। साथ ही घटना की हर एंगल से जांच कराने के निर्देश दिए। मंत्री मीणा ने मलबे में दबने से महिला की हुई मौत पर भी दुख जताया है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack