'लोहडी धीयां दी' प्रोग्राम के तहत 4559 बेटियों का हुआ चयन।

श्रीगंगानगर-राकेश मितवा। 
गुरद्वारा बाबा दीप सिंह शहीद में उत्साह का माहौल था।बेटियों के हजूम के हजूम श्रद्धा से दर्शन कर बड़े हाल में पहुंच रहे थे। चार हज़ार पांच सौ उनसठ लड़कियों का चयन हुआ था। जिन्हें समाजसेवी अशोक चांडक, विजय जिंदल व सतनाम सिंह लाढा ने सर्टिफिकेट दिए। बच्चियों को संबोधित करते अशोक चांडक ने लड़कियों को बधाई देते हुए कहा कि एक बेटी पढ़ती है तो तीन तीन परिवारों का भला होता है।उन्होंने बेटियों से पढ़ाई के साथ साथ जीवन मे किरदार के महत्व के बारे में भी बताया। विजय जिंदल ने घोषणा की कि लोहडी धीयां दी प्रोग्राम के तहत जिन लड़कियों का आरएएस या आईएएस में चयन होगा। उन्हें विजय जिंदल चैरिटेबल ट्रस्ट की तरफ से पचास हज़ार रुपये का इनाम दिया जाएगा। तेजिंदर पाल सिंह टिम्मा ने कहा कि बाबा दीप सिंह सेवा समिति  सिर्फ बेटियों को पढ़ाती ही नही है बल्कि पहले बेटियों को गर्भ में बचाती भी है। इसीलिए समिति ने पहले डिकाँय ऑपरेशन के तहत उन डॉक्टरों पर शिकंजा कसा जो चंद रुपयों के लालच में गर्भ में ही बेटियों को मार देते थे। फिर बेटियों को लोहडी धीयां दे के माध्यम से पढ़ाया फिर सामूहिक विवाह में उनका विवाह भी किया।
बचाया, पढ़ाया और ब्याहा।
टिम्मा ने कहा कि जो बेटियां आज भी नही पहुंच सकी वो भी निराश न हो।वो दो दिन के अंदर अंदर अपने सेंटर "जहां उनका चयन हुआ है" पहुंच कर दाखिला ले लेवें। नही तो बैच शुरू होने के बाद उनका एडमिशन निरस्त कर दिया जाएगा। टिम्मा ने कहा कि अब 29 जनवरी को कालेज व यूनिवर्सिटी में चयनित लड़कियों को प्रमाण पत्र दिए जाएंगे। फरवरी में स्कूली लड़कियों को प्रमाणपत्र दिए जाएंगे। समारोह में सभी सेवादारों और संस्थायों को शील्ड देकर सम्मानित किया गया।पैटर्न समारोह में हरप्रीत सिंह बबलू,मनिंदर सिंह मान, योगेंद्र शर्मा,हिमांशु वर्मा,अली अब्बास रिज़वी,अरविंदर सिंह शिप्पू, अरुण ग्रोवर,राणा सोढ़ी,निरंजन सिंह सिधू,बाबा जगविंदर सिंह,गुरवीर सिंह 12 जी,प्रदीप सिंह व अकाल पुरख की फौज के सेवादार उपस्थित थे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack