मेडिकल ऑफिसर के पदों पर बढोतरी करने की मांग को चिकित्सकों ने शुरू की जंग।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
प्रदेश भर के एमबीबीएस चिकित्सक अपनी मांगों को लेकर सड़क पर उतर आए। हाल ही में राजस्थान यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंसेस की ओर से मेडिकल ऑफिसर के पदों पर भर्ती की गई थी। लेकिन चिकित्सकों का कहना है कि मौजूदा समय में प्रदेश में तकरीबन 9000 से अधिक चिकित्सकों के पद खाली पड़े हैं। लेकिन विभाग सिर्फ 1765 पदों पर भर्ती कर रही है। इसके विरोध मे प्रदेश भर के एमबीबीएस चिकित्सक जयपुर में एकत्रित हुए। इस दौरान चिकित्सकों ने सिटी के त्रिमूर्ति सर्किल से एसएमएस मेडिकल कॉलेज तक रैली निकाली। ऑल राजस्थान एमबीबीएस डॉक्टर एसोसिएशन के बैनर तले निकाली इस रैली में भारी संख्या में चिकित्सक शामिल हुए। इस दौरान रैली में शामिल चिकित्सकों ने कहा कि प्रदेश भर में तकरीबन 9000 से अधिक चिकित्सकों के पद खाली पड़े हुए। लेकिन हाल ही में आयोजित हुई भर्ती में चिकित्सा विभाग ने सिर्फ 1765 पदों पर ही भर्ती की है। जबकि इस भर्ती में 9400 से अधिक आवेदन आए थे। एसोसिएशन से जुड़े चिकित्सकों का कहना है कि एक तरफ तो सरकार कह रही है कि प्रदेश में चिकित्सकों की भारी कमी है। लेकिन सरकार की ओर से खाली पड़े पदों पर भर्ती नहीं की जा रही है।एसोसिएशन का कहना है कि राजस्थान में सीएचसी और पीएचसी पर बड़ी संख्या में चिकित्सकों के पद खाली पड़े हुए हैं और हाल ही में आयोजित हुई मेडिकल ऑफिसर भर्ती परीक्षा में भी हमारी ओर से पद बढ़ाने की मांग रखी गई थी। हालांकि, शुरुआती समय में सिर्फ 840 पदों पर भर्ती की जा रही थी, जिसे बाद में 1765 कर दिया गया। लेकिन यह भी काफी कम है। ऐसे में अपनी मांगों को लेकर अब एमबीबीएस चिकित्सक सड़क पर उतर गए हैं। मामले को लेकर ऑल राजस्थान एमबीबीएस डॉक्टर्स एसोसिएशन के बोर्ड मेंबर डॉ. विनय प्रकाश शर्मा का कहना है कि हाल ही में 21 दिसंबर को आरयूएचएस की ओर से मेडिकल ऑफिसर भर्ती से जुड़ी परीक्षा आयोजित की गई थी। इससे पहले हमारी ओर से लगातार पदों में बढ़ोतरी की मांग की जा रही है, लेकिन सरकार मेडिकल ऑफिसर के पदों में बढ़ोतरी नहीं कर रही है। ऐसे में अब हमें मजबूरन सड़कों पर उतरना पड़ रहा है और मंगलवार को भी एसएमएस मेडिकल कॉलेज से त्रिमूर्ति सर्किल तक चिकित्सकों की ओर से कैंडल मार्च निकाला जाएगा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack