ऑनलाइन हाजरी व्यवस्था को लेकर नरेगा श्रमिकों ने किया प्रदर्शन।

चित्तौड़गढ़-गोपाल चतुर्वेदी।
केंद्र और राज्य सरकार की ओर से चलाई जा रही नरेगा योजना मे कार्यरत चित्तौड़गढ़ जिले के श्रमिकों और मेट ने सरपंच संघ के तत्वावधान में ऑनलाइन हाजरी व्यवस्था को समाप्त करने सहित अपनी अन्य मांगों को लेकर जिला कलेक्टर चौराहे पर जमकर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया। प्रदर्शन की जानकारी मिलने के बाद चित्तौड़गढ़ सांसद सीपी जोशी प्रदर्शन के बीच जिला कलेक्टर चौराहे पर पहुंचे सभी से बातचीत की और शीघ्र ही उनकी समस्याओं के समाधान करने के लिए सरकार से बातचीत करने का आश्वासन दिया। इसके बारे में जानकारी देते हुए सरपंच संघ जिला अध्यक्ष गणेश साहू ने बताया कि राज्य सरकार ने गत माह एक आदेश जारी कर इस वर्ष से सभी नरेगा मजदूरों और नेट की उपस्थिति ऑनलाइन दर्ज करना अनिवार्य कर दिया था। इसी के विरोध में आज चित्तौड़गढ़ जिले के सभी 11 पंचायत समितियों के नरेगा श्रमिकों और मेट ने जिला कलेक्ट्री चौराहे पर पहुंचकर इस व्यवस्था को समाप्त कर पहले वाली व्यवस्था को जारी रखने की मांग की। उन्होंने सरकार को आगाह किया कि अगर उनकी मांग पर विचार नहीं किया गया तो राज्य स्तर के साथ पूरे देश भर में सरपंच संघ नरेगा मजदूरों के साथ आंदोलन करेगा। इस बारे में जानकारी देते हुए सरपंच संघ के प्रदेश प्रतिनिधि और धनेतकला सरपंच रणजीत सिंह भाटी ने बताया कि विगत कई महीनों से लगातार ऑनलाइन सिस्टम का विरोध कर रहे श्रमिकों ने ऑनलाइन सिस्टम का विरोध किया है, उन्होंने बताया कि दूरस्थ क्षेत्रों में नेट की समस्या के कारण कई जगहों पर ऑनलाइन हाजरी नहीं हो पा रही है। इसी के कारण उन्हें काम से वंचित रहना पड़ रहा है। उन्होंने बताया कि महंगाई लगातार बढ़ने के चलते नरेगा श्रमिकों की मजदूरी पर बढ़ाई जाए।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack