राजधानी में लावारिस युवक के शव की पुलिस ने की बेकद्री।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
जयपुर में संवेदनशीलता तार-तार हुई है और लालकोठी थाना पुलिस का अमानवीय चेहरा सामने आया है। दरअसल रविवार को महिला चिकित्सालय के पास दो दिन से पड़े एक व्यक्ति के शव को पहले तो चूहों ने कुतरा, इसके बाद पुलिस ने शव की बेकद्री की। लालकोठी थाना पुलिस शव को अपमानजनक तरीके से ई-रिक्शा में पटक कर अस्पताल ले गई। रास्ते में मृतक का सिर और पैर ई-रिक्शा से बाहर निकलते लोगों ने देखा तो पुलिस की इस कार्यशैली पर सभी हैरान हो गए। इस दौरान पुलिस की चेतक आगे-आगे चलती रही। लोगों ने इस पूरी घटना का वीडियो बनाया और सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। थानाधिकारी सुरेंद्र सिंह ने बताया रविवार को महिला चिकित्सालय के पास अंडर ग्राउंड पार्किंग की दीवार के समीप एक युवक मृत मिला था। सुबह करीब 9:45 बजे खेलने आए बच्चों ने इसकी सूचना पुलिस दी थी। इस पर थाने की चेतक मौके पर पहुंची। शव दो दिन पुराना था, चेहरे की एक साइड चूहों द्वारा कुतरी हुई मिली। पुलिस मृतक के शव को ई-रिक्शा में रखकर कर सवाई मान सिंह अस्पताल ले गई, जहां मोर्चरी में शव रखवाया गया है। फ़िलहाल, मृतक की शिनाख्त नहीं हो पाई है, मृतक की उम्र लगभग 35 साल बताई जा रही है। उसने काली पेंट, काली जर्सी और स्पोट्‌र्स शूज पहन रखे थे। प्रारंभिक रूप से जांच में युवक की मौत सर्दी से होना सामने आया है। मृतक की शिनाख्त नहीं होने की वजह से शव मोर्चरी में रखवाया गया है।
आगे पुलिस चेतक, पीछे ई-रिक्शा।
पुलिस ने सिर पर चोट के चलते शव के चेहरे पर प्लास्टिक का कट्‌टा बांध दिया। इसके बाद शव को ई-रिक्शा के पायदान पर रख दिया। शव के पैर और सिर बाहर लटक रहे थे और ऐसी स्थिति में ही ई-रिक्शा लाश को लेकर रवाना हो गया। पुलिस चेतक आगे-आगे चलती रही, पीछे-पीछे चालक ई-रिक्शा में लटकती लाश को लेकर चलता रहा। यह दृश्य देखकर लोग भी हैरान रह गए।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack