खूब जमा जयपुर घराने के युवा कत्थक नर्तक चेतन जवड़ा का ताल।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
जयपुर नेट थिएट कार्यक्रमों की श्रृंखला में जयपुर घराने के युवा कथक कलाकार चेतन जबड़ा के भावपूर्ण कथक की प्रस्तुति पर लोग वाह-वाह कर उठे। नेट थिएट के राजेंद्र शर्मा राजू ने बताया कि कथक कलाकार चेतन ने नृत्य की शुरुआत शिव स्त्रोत शंकर त्रिपुरारी त्रि नेत्र धारी राग दरबारी पर आधारित व ताल चौताल पर आधारित से की। तत्पश्चात तीन ताल में जयपुर घराने का पारंपरिक कथक नृत्य जिसमें थाट खड़े होने का अंदाज़, आमद, फरमाइशी चक्रदार परणे , प्रमिलू , दमदार, बेदम बंदिशें , चक्कर , तालमाला गतनिकास लड़ी आदि प्रस्तुत की। कलाकार चेतन के नृत्य में भाव लयकारी ताल और एक्सप्रेशन की झलक देखने लायक थी। संगत कलाकार गायन व हारमोनियम पर रमेश मेवाल तबले पर मुजफ्फर रहमान व पखावज एवं पढ़न्त पर भवदीप जवड़ा की शानदार प्रस्तुति से कार्यक्रम परवान चढ़ा। कार्यक्रम में प्रकाश व्यवस्था मनोज स्वामी एवं मंच व्यवस्था अंकित शर्मा नोनू देवांग सोनी और जीवितेश शर्मा की रही।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack