पांच साल की मासूम के साथ दरिंदगी कर हत्या करने के आरोपी को कोर्ट ने सुनाई आजीवन कारावास की सजा।

करौली ब्यूरो रिपोर्ट।
करौली पोक्सो कोर्ट की विशिष्ठ न्यायाधीश अलका बंसल ने शनिवार को 5 साल की मासूम नाबालिग से दरिंदगी कर उसकी हत्या करने के आरोपी को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। पोक्सो कोर्ट के विशिष्ठ लोक अभियोजक महेन्द्र कुमार मुदगल ने बताया कि पोक्सो एक्ट के मामले में आरोपी कपिल पुत्र नरेश जाट को दोषसिद्ध करार देते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई है। लोक अभियोजक ने बताया कि पांच साल की नाबालिग पीड़िता के पिता ने 6 मई 2021 को हिंडौन के सदर थाने में मामला दर्ज करते हुए बताया था कि उसकी मासूम बेटी 06 मई 2021 को सुबह 9 बजे पास मे ही स्थित बबलू की दुकान पर समान लेने गई थी। काफी देर तक जब बच्ची समान लेकर वापिस नहीं आई तो बच्ची को आस पास तलाश किया। फिर उसी दिन दोपहर के लगभग 3:30 बजे मासूम की लाश रामदयाल बाबू के पुराने खंडरमुना हवेली पर मिली। पीड़ित बताना आरोप लगाया था कि आरोपी ने मासूम के साथ दंरिदगी की घटना को अंजाम देते हुए उसकी हत्या कर दी। बच्ची को हवेली की तरफ ले जाते समय आरोपी कपिल   पालसिंह नाम के व्यक्ति ने देखा था। जिसके बाद पुलिस की जांच पडताल मे आरोपी कपिल पुत्र नरेश जाट निवासी काँचरौली के खिलाफ विभिन्न धाराओं मे मामला दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार किया गया। और पुलिस द्वारा कोर्ट में चालान पेश किया गया। लोक अभियोजक ने बताया कि मामले में 24 गवाह और 36 दस्तावेज पेश किये गये। जिसके बाद आज पोक्सो कोर्ट की न्यायाधीश ने आरोपी को आजीवन कारावास की सजा सुनाते हुए 2 लाख 80 हजार रुपए का जुर्माना लगाया गया है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack