नगर परिषद की साधारण सभा की बैठक में पार्षदों में चले लात-घूंसे, मामला पहुंचा पुलिस के पास।

चित्तौड़गढ़-गोपाल चतुर्वेदी।
चित्तौड़गढ़ नगर परिषद की साधारण सभा की बैठक में भ्रष्टाचार और भेदभाव को लेकर भाजपा पार्षदों की ओर से जोरदार हंगामा हुआ और इस बीच बात हाथापाई और धक्का-मुक्की के साथ गाली गलौज तक पहुंच गई। इससे आहत होकर सभी भाजपाई पार्षद सदन का बहिष्कार करते हुए सदन से बाहर निकल गए और कांग्रेसी पार्षद की ओर से की गई अमर्यादित टिप्पणी को लेकर भाजपा पार्षद छोटू सिंह शेखावत ने शहर कोतवाली में एक प्राथमिकी दर्ज कराई है। इसके विपरीत कांग्रेस की तरफ से भी शहर कोतवाली में एक रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। दरअसल चित्तौड़गढ़ नगर परिषद कि इस वर्ष की पहली साधारण सभा की बैठक आज करीब 3:15 सभागार में शुरू हुई।
जिसके शुरू में ही भाजपाई पार्षदों ने शहर के विकास कार्यों के नाम पर किए जा रहे भ्रष्टाचार और और भाजपा पार्षदों के साथ हो रहे भेदभाव को लेकर हंगामा शुरू कर दिया और सभापति से उनकी बात सुनने की मांग की। इस बात पर दोनों ही पक्षों के लोग आमने-सामने हो गए वही मामला तब और बढ़ गया जब नगर परिषद में हाल ही में कर्मचारियों  पदोन्नति स्थायीकरण के मामले में भेदभाव को लेकर भाजपा पार्षद छोटू सिंह शेखावत द्वारा अपनी बात रखने के बीच कांग्रेसी पार्षदों ने तीखी टिप्पणी के बीच मामला हाथापाई और धक्का-मुक्की के साथ गाली गलौज तक भी पहुंच गया। इसी से आहत होकर भाजपाई पार्षद सदन से वाकआउट कर गए। उसके बाद सभापति संदीप शर्मा ने सभी बजट प्रस्ताव को पास करवाया। सभी भाजपाई पार्षद उनके साथ हुए दुर्व्यवहार और गाली गलौज के मामले को कोतवाली तक ले गए जहां पर भाजपा पार्षद छोटू सिंह शेखावत कांग्रेस के पार्षदों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करवाई है।इसी मामले को लेकर कांग्रेस पार्षदो ने भी अपनी रिपोर्ट कोतवाली में दर्ज कराई है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack