निदेशक के रिक्त पद को आरपीएससी से अनुमति मिलते ही शीघ्र भरा जाएगा- मंत्री अशोक चांदना

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
कौशल नियोजन एवं उद्यमिता राज्य मंत्री अशोक चांदना ने विधानसभा में कहा कि प्राविधिक शिक्षा निदेशालय जोधपुर में निदेशक के रिक्त पद को राजस्थान लोक सेवा आयोग द्वारा अनुमति के बाद पदोन्नति से शीघ्र भर दिया जाएगा। चांदना ने प्रश्नकाल के दौरान इस संबंध में पूछे गये पूरक प्रश्न के जवाब में बताया कि प्राविधिक शिक्षा निदेशालय जोधपुर में 29 जून 2021 को डीपीसी हुई लेकिन निदेशक पद पर योग्यता पूरी नहीं होने के कारण यह पद रिक्त रह गया। इस निदेशालय में 8 अप्रैल 2022 को पुनः डीपीसी हुई तथा आरपीएससी ने 28 सितम्बर 2022 को आदेश जारी कर दिए। उन्होंने बताया कि आदेश के बाद 6 में से 5 पदों पर प्रमोशन हुआ तथा निदेशक पद पर आपत्ति होने से एक बार फिर यह पद रिक्त रह गया। उन्होंने बताया कि इस संबंध में 17 जनवरी 2023 को राजस्थान लोक सेवा आयोग को दुबारा प्रस्ताव भेजा गया है। आयोग द्वारा अनुमति मिलते ही निदेशक के रिक्त पद को पदोन्नति से भर दिया जाएगा। इससे पहले कौशल नियोजन एवं उद्यमिता राज्य मंत्री ने विधायक चन्द्रकांता मेघवाल के मूल प्रश्न के लिखित जवाब में बताया कि निदेशक प्रशिक्षण एवं निदेशक राज्य व्यवसायिक प्रशिक्षण परिषद (आरसीवीईटी) के पद क्रमशः एक सितम्बर 2020 एवं 28 सितम्बर 2020 से रिक्त हैं तथा विभाग द्वारा इन पदों को विभागीय पदोन्नति से भरा जायेगा। उन्होंने बताया कि इसके व्यवसायिक प्रशिक्षण परिषद (आरसीवीईटी) के पद की वर्ष 2020-21 हैं तथा विभाग द्वारा इन पदों को विभागीय पदोन्नति से भरा जायेगा। लिए निदेशक प्रशिक्षण एवं निदेशकराज्य की डी.पी.सी के प्रस्ताव प्रशासनिक विभाग के पत्रांक के तहत 8 अप्रैल 2022 के द्वारा राजस्थान लोक सेवा आयोग अजमेर को भिजवाये जा चुके हैं एवं प्रस्ताव 17 जनवरी 2023 को राजस्थान लोक सेवा आयोग अजमेर को पुनः भेजा जा चुका है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack