चेतक स्मारक विवाद मामलाः सभापति बोले- विपक्ष फैला रहा है भ्रांतियां।

चित्तौड़गढ़-गोपाल चतुर्वेदी।
विगत कुछ दिनों से चित्तौड़गढ़ में वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप और स्वामी भक्त चेतक स्मारक को लेकर राजनीति गरमाई हुई है। जिसमें बोर्ड बैठक में चेतक स्मारक बनाने को लेकर की गई घोषणा के बाद जहां मंगलवार को सर्व समाज की ओर से चेतक स्मारक के लिए भूमि नीलामी को लेकर बड़ा आंदोलन किया गया। वही बुधवार को इस पर स्पष्टीकरण देने के लिए नगर परिषद सभापति संदीप शर्मा ने पत्रकार वार्ता बुलाकर तथ्यों के साथ अपना पक्ष रखा। इसके बारे में जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि वर्ष 2009 में नगर पालिका की बोर्ड बैठक में तत्कालीन अध्यक्ष की ओर से ओछडी में स्वामी भक्त चेतक स्मारक को बनाने को लेकर एक लाइन का प्रस्ताव पारित किया गया था। जिसमें कहीं पर भी भूमि के आराजी नंबर का जिक्र नहीं था और नगर परिषद की ओर से कुछ दिनों पूर्व नीलाम की गई भूमि पर कुछ भाजपा के नेताओं ने अपने हितों को साधने के लिए आमजन में गलत तथ्य पेश कर इस पर विवाद उत्पन्न करने का प्रयास किया है। जिसमें कोई सच्चाई नहीं है। उन्होंने ओछडी निवासी भाजपा नेता दशरथ मेनारिया, पूर्व पार्षद देवीलाल राठौड़ के साथ उनका एक रिश्तेदार का नाम लेकर कहा कि इस भूमि के कुछ हिस्से पर उन्होंने अवैध तरीके से अतिक्रमण कर रखा था। जिसको हटाने की कार्यवाही भी की गई है जिसके लिए सभी ने गलत पट्टे को दिखाकर हाईकोर्ट का भी सहारा लेने का प्रयास किया। लेकिन वहां से भी उन्हें किसी तरह की सहायता नहीं मिली। इसी के चलते इन सभी ने आमजन में गलत दस्तावेज पेश कर भ्रमित करने का प्रयास किया है। उन्होंने कहा कि चित्तौड़गढ़ नगर परिषद आमजन हितार्थ काम कर रही है जिसका विपक्ष के पास कोई जवाब नहीं है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack