कांग्रेस ब्लॉक अध्यक्षों ने डोटासरा से ब्यूरोक्रेसी को उनकी बात मानने के निर्देश देने को कहा।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
ढाई साल के इंतजार के बाद ही सही, लेकिन राजस्थान कांग्रेस संगठन को 400 में से 235 ब्लॉक अध्यक्ष मिल चुके हैं। इन सभी कांग्रेस के सबसे प्रमुख संगठन के पदाधिकारी माने जाने वाले ब्लॉक अध्यक्षों की पहली बैठक प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में हुई। बैठक में ब्लॉक अध्यक्षों ने कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गोविंद ​सिंह डोटासरा से ब्यूरोक्रेसी से प्राथमिकता से उनके जनता से जुड़े काम करवाने का अधिकार मांगा। बैठक के दौरान डोटासरा ने सभी ब्लॉक अध्यक्षों से 'हाथ से हाथ जोड़ो अभियान' को सफल बनाने के लिए जुटने के निर्देश दिए। वहीं ब्लॉक अध्यक्षों ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष को अपनी ओर से संगठन को मजबूत बनाने के लिए दिए गए सुझाव में कहा कि ब्यूरोक्रेसी उनके कामों को प्राथमिकता से करे। उनके अनुसार जब ब्लॉक अध्यक्ष नेताओं के लिए वोट मांगने जाता है। ऐसे में अपने कार्यकर्ताओं और जनता से जुड़ी समस्या लेकर अगर वह ब्यूरोक्रेसी के पास जाए तो उसके काम भी प्राथमिकता के साथ होने चाहिए।ब्लॉक अध्यक्षों ने कहा कि नौकरशाह अगर उनके कहने पर किसी काम के लिए इनकार करेंगे और उसी काम को नौकरशाह रास्ता निकाल कर किसी अन्य नेता के कहने पर कर देंगे, तो उससे ब्लॉक अध्यक्षों की पूछ कम होती है। इस परिपाटी में बदलाव होना चाहिए और ब्लॉक अध्यक्षों के जनता से जुड़े काम सरकार में प्राथमिकता से होने चाहिए। इस दौरान डोटासरा ने सभी ब्लॉक अध्यक्षों से 1 सप्ताह में 51 सदस्य कार्यकारिणी का गठन करने के निर्देश दिए और बताया कि आने वाले दिनों में बूथ और मंडल की कार्यकारिणियां भी बना दी जाएंगी। डोटासरा ने दावा किया कि जब पूरी कार्यकारिणी बन जाएगी, तो हर विधानसभा में कांग्रेस पार्टी के चार से पांच हजार लोग ऐसे होंगे जो व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से आपस में जुड़े होंगे। डोटासरा ने कहा कि हाथ से हाथ जोड़ो अभियान के तहत कांग्रेस पार्टी 26 जनवरी से 2 महीने तक हर ब्लॉक में केंद्र सरकार की गलत नीतियों ओर राज्य सरकार की जनता के लिए दी गई सौगातों के पम्पलेट तो बांटेगी ही। इसके साथ ही हर घर में स्टीकर भी लगाए जाएंगे ताकि यह पता रहे कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जनता से कहां जाकर मुलाकात की है।इसके साथ ही उन्होंने 20 जनवरी से हनुमानगढ़ जिले से शुरू हो रहे जिला स्तरीय सम्मेलन को सभी जिलों में आयोजित करवाया जाएगा। इसके साथ ही एआईसीसी के अनुसार स्टेट लेवल पर भी कार्यक्रम करवाएगी। जिसमें एआईसीसी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मलिकार्जुन खड़गे और राहुल गांधी के आने का कार्यक्रम बन रहा है। वहीं महिलाशक्ति के लिए भी हर स्टेट का कार्यक्रम बन रहा है। जिसके तहत प्रियंका गांधी राजस्थान में महिलाओं की ओर से निकाले जाने वाले मार्च में शामिल होने आएंगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack