पायलट ने सीएम गहलोत पर लगाया वसुंधरा के घोटालों पर चुप रहने का आरोप।

पाली ब्यूरो रिपोर्ट।
सचिन पायलट ने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बने चार साल हो गए। पूर्व सीएम वसुंधरा राज के जिन घोटालों पर हमने आरोप लगाए, जिनके सबूत हैं, उन पर  सीएम गहलोत कार्रवाई क्यों नहीं करते ? केंद्र की सरकार गांधी परिवार को बेवजह परेशान कर रही है और  प्रदेश में हमारी सरकार भाजपा राज के घोटालों पर कार्रवाई क्यों नहीं करती ? उन्होंने माथुर आयोग का जिक्र करते हुए कहा कि उसका भी कोई अर्थ नहीं निकला। आखिर अब जनता को क्या जवाब दें ऐसे में कार्यवाही किया जाना आवश्यक है। पायलट ने कहा कि विपक्ष में 5 साल कड़ी मेहनत से सरकार बनाई, उन पांच सालों में वसुंधरा की सरकार प्रदेश में थी, हमने वसुंधरा सरकार को चुनौती दी थी कि आपके भ्रष्टाचार और काले कारनामों को हम उजागर करेंगे। जो दोषी पाए जाएंगे उनके खिलाफ कार्रवाई होगी लेकिन ऐसा संभव नहीं हो पाया है। अब हम को फिर से चुनाव में जाना है तो आम जनता को क्या जवाब देंगे ऐसी स्थिति में हमें समय रहते हुए कार्यवाही करके जनता के सामने पिछली सरकार के घोटालों को सामने लाकर कार्रवाई करनी पड़ेगी। पायलट ने पाली के सादड़ी में हुए किसान सम्मेलन में यह नए सवाल सीएम गहलोत के सामने खड़े कर कर एक नई चुनौती पैदा कर दी है।उन्होंने कहा कि आप सब जानते हो भाजपा राज में जमीन और शराब के घोटाले हुए। कई देश छोड़कर भाग गए। ललित मोदी विदेश में बैठे हैं। उन लोगों का नाम जिनके साथ जुड़ा था, उनके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। पायलट ने कहा कि कांग्रेस की सरकार रिपीट हो सकती है, लेकिन जो भ्रष्टाचार में लिप्त थे, जिनको बेनकाब करके हमने  प्रदेश में सरकार बनाई है, उन लोगों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की तो जनता हमारी बात पर विश्वास नहीं करेगी। मैं दुश्मनी की बात नहीं करता, लेकिन हमने जो आरोप लगाए हैं, जिनके प्रमाण हैं, उन पर तो कार्रवाई कीजिए। पायलट ने कहा कि केंद्र में बैठी सरकार हमारे नेताओं पर झूठे आरोप लगाती है। राहुल गांधी और सोनिया गांधी पर केस कर दिया और इनकम टैक्स से पूछताछ की गई। गांधी परिवार को पूछताछ के लिए बुलाया जाता है, जिस परिवार ने देश के लिए बलिदान दिया, उनकी सुरक्षा वापस ले ली जाती है। उन्हें परेशान करते हैं, उन पर झूठे केस दर्ज करके अपमानित करते हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack