भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में हिस्सा लेने जयपुर पहुंचे जेपी नड्डा


 जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।

भारतीय जनता पार्टी प्रदेश कार्यसमिति की बैठक जयपुर के एंटरटेनमेंट पैराडाइज में चल रही है। पहले सत्र की बैठक में कांग्रेस सरकार को उखाड़ फेंकने का राजनीतिक प्रस्ताव पारित हुआ। इस दौरान विधायक वासुदेव देवनानी ने कहा- राजस्थान में हालात इतने बिगड़ गए हैं कि नवंबर से पहले भी चुनाव हो सकते हैं। वहीं, बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा भी बैठक में पहुंच गए हैं। जो प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में शामिल हो रहे हैं।

बीजेपी प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में सोमवार को राजनीति प्रस्ताव पास हुआ। जिसमें राजस्थान से गहलोत सरकार को उखाड़ फेंकने का संकल्प लिया गया। केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी ने मीडिया से बातचीत में बताया कि प्रदेश में जंगलराज है। कानून व्यवस्था पूरी तरह से फेल हो गई है। जहां केंद्र सरकार भारत को विकसित राष्ट्र बनाने के लिए काम कर रही है। वहीं गहलोत सरकार राजस्थान को पीछे धकेलने का काम कर रही है। युवाओं के साथ धोखा किया जा रहा है। बार-बार पेपर लीक होने से युवा परेशान है। चौधरी ने कहा कि प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में तय हुआ है कि जनता से जुड़े मुद्दों को उठाया जाएगा और कांग्रेस के खिलाफ सड़कों पर बीजेपी आंदोलन करेगी।

विधायक वासुदेव देवनानी ने कहा- राजस्थान में असहाय मुख्यमंत्री राज कर रहा है। प्रशासन ठप है, 1 लाख से अधिक शिक्षकों के पद खाली हैं। तुष्टिकरण की नीति पर सरकार काम कर रही है। धर्मांतरण की बातें सामने आ रही हैं। विशेष समुदाय के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई। जिससे जनता में आक्रोश है। देवनानी ने कहा कि सरकार ने अब तक जो घोषणाएं की है। उसका श्वेत पत्र जारी किया जाए। ताकि दूध का दूध पानी का पानी हो जाए। उन्होंने कहा कि कार्यकर्तओं को संकल्प दिलाया है कि जब तक राजस्थान में डबल इंजन की सरकार नहीं बनती। तब तक चुप नहीं बैठेंगे। ऐसे हालत में राजस्थान में नवंबर से पहले भी चुनाव हो सकते है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack