पेपर लीक के चार राजकीय कार्मिकों को गहलोत सरकार ने किया राजकीय सेवा से बर्खास्त।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
पेपर लीक के प्रकरणों में राज्य सरकार दोषियों पर निरन्तर कड़ी कार्यवाही कर रही है। जीरो टॉरलेंस की नीति अपनाते हुए वरिष्ठ अध्यापक प्रतियोगी परीक्षा प्रश्न पत्र लीक मामले में शिक्षा विभाग के चार कार्मिकों को राजकीय सेवा से बर्खास्त किया गया है।  सुरेश कुमार, प्रधानाध्यापक, प्रवेशिका संस्कृत विद्यालय, ठेलिया (जालोर), भागीरथ, वरिष्ठ अध्यापक-विज्ञान, राउमावि, गोल (सिरोही), रावताराम, वरिष्ठ अध्यापक-संस्कृत, महात्मा गांधी राजकीय विद्यालय, जसवन्तपुरा (जालोर) एवं पुखराज, कनिष्ठ सहायक, राउमावि, झाब (चितलवाना), जालोर के विरुद्ध यह कार्यवाही की गई है। दरअसल राजस्थान लोक सेवा आयोग, अजमेर द्वारा 24 दिसम्बर 2022 को वरिष्ठ अध्यापक प्रतियोगी परीक्षा के अन्तर्गत आयोजित सामान्य ज्ञान की परीक्षा में प्रश्न पत्र लीक का प्रकरण सामने आया था। प्रकरण में उक्त कार्मिकों को संबंधित विभाग द्वारा राजस्थान असैनिक सेवाएं (वर्गीकरण, नियंत्रण एवं अपील) नियम 1958 के नियम-13 के अंतर्गत शक्तियों का प्रयोग करते हुए 24 दिसम्बर को निलम्बित किया गया था एवं नियम- 16 के तहत आरोप पत्र दिया गया था।सूचना रिपोर्ट एवं जिला पुलिस अधीक्षक, उदयपुर से प्राप्त दुराचरण रिपोर्ट के आधार पर आरोप प्रमाणित पाए जाने एवं मामले की गंभीरता के दृष्टिगत चारों कार्मिकों को राजकीय सेवा से बर्खास्त किया गया है। उक्त कार्यवाही राजस्थान सिविल सेवाएं (वर्गीकरण, नियंत्रण एवं अपील) नियम 1958 के नियम-19 के प्रावधानों के अंतर्गत की गई है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack