राष्ट्रीय बालिका दिवस पर भ्रूण लिंग परीक्षण रोकने की ली गई शपथ।

करौली ब्यूरो रिपोर्ट।
राष्ट्रीय बालिका दिवस जिलेभर में मनाया गया, चिकित्सा संस्थानों पर जहां भ्रूण लिंग परीक्षण रोकने की शपथ का आयोजन हुआ, वही एएनएम ट्रेनिंग सेंटर में एएनएम प्रशिक्षणार्थियों को बालिका बचाओ का संदेश प्रसारित करने और भ्रूण लिंग परीक्षण रोकने के लिए संचालित मुखबिर योजना की जानकारी साझा की गई। एएनएम ट्रेनिंग सेंटर में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए डॉ. दिनेश चंद मीणा ने कहा कि बालिकाओं का गिरता लिंगानुपात हमारे समाज के लिए बेहद खतरनाक है और इसका मुख्य कारण लिंग परीक्षण है जिसे हम सभी मिलकर रोकने में अपनी भागीदारी निभाएं। उन्होंने प्रशिक्षणार्थी छात्राओं को पीसीपीएनडीटी अधिनियम जानकारी परक और मुखबिर योजना आईईसी प्रिंटेड डायरी वितरण कर बालिका जन्म को प्रोत्साहित करने में भागीदारी की अपेक्षा जताई। इस दौरान डिप्टी सीएमएचओ डॉ सतीश चंद मीणा, पीसीपीएनडीटी समन्वयक नगीना शर्मा सहित एनएमडीसी प्रभारी मौजूद रहे।
स्वास्थ्य भवन परिसर मे ली गई शपथ।
बालिका दिवस के अवसर पर स्वास्थ्य भवन परिसर में स्वास्थ्य विभाग के मौजूद कार्मिकों द्वारा भ्रूण लिंग परीक्षण रोकने की शपथ ली गई और बालिका बचाओ के संदेश को प्रसारित करने में अपनी भागीदारी निभाने की वचनबद्धता दी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack