वेतन विसंगति दूर करने की मांग को लेकर जेल कर्मियो ने किया मैस का बहिष्कार।

करौली ब्यूरो रिपोर्ट।
करौली जिला मुख्यालय के कारागृह और हिण्डौन उपकारागृह में शुक्रवार को जेल कार्मिक भूख हड़ताल पर बैठ गए। ये सब कार्मिक अखिल राजस्थान राज्य कर्मचारी सयुंक्त महासंघ से जुड़े हुए है। इन्होंने अपनी मांगों को लेकर अनशन चालू किया है जो अनिश्चितकाल के लिए रहेगा। आपको बता दे, कि सरकार इनकी मांगो पर ध्यान नहीं दे रही है। इससे पहले भी भूख हड़ताल पर जेल कार्मिकों ने अनशन किया था। अनशन के बाद सरकार की तरफ से अश्वासन तो मिले थे। लेकिन अभी तक उनको पूरा नहीं किया गया। सबसे बड़ी बात यह है की इन जेल कर्मचारियों की बहादुरी बताई जा रही है कि यह भूखे रहकर भी अपनी ड्यूटी निभाएंगे। इनकी मांग यह है कि सन 1998 से वेतनमान व भत्तों की विसंगति चली आ रही है व राज्य सरकार से सन 2017 में समझौता हुआ था। लेकिन सरकार अपने वादे पर खरी नहीं उतरी।जिसको लेकर अनिश्चितकाल के लिए यह कर्मचारी अनशन पर बैठ गए।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack