शहरों में पाइपलाईन से घरेलू गैस वितरण नेटवर्क तेजी से होगा विस्तारित - एसीएस।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
पेट्रोलियम विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. सुबोध अग्रवाल ने कहा है कि प्राकृतिक गैस ग्रीन एनर्जी का प्रमुख माध्यम है और प्रदेश इसके लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए शहरों में पाइपलाईन से घरेलू गैस वितरण नेटवर्क को तेजी से विस्तारित करना होगा।डॉ. अग्रवाल सचिवालय में राजस्थान स्टेट गैस लि. के कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार रोड मेप बनाकर शहरों में पाइपलाईन से घरेलू गैस और उद्योगों, व्यावसायिक प्रतिष्ठानों व वाहनों की सीएनजी और पीएनजी सेवाओं के लिए आधारभूत ढांचा तैयार कराने और उपलब्ध क्षेत्र में सीएनजी पीएनजी से तेजी से गैस कनेक्शन उपलब्ध कराने के लिए संस्थाओं से समन्वय, सहयोग व मोनेटरिंग सुनिश्चित कर रही है। डॉ. अग्रवाल ने प्रदेश में नीमराना, कोटा, कूकस, ग्वालियर व शिवपुर में 70 हजार किलोग्राम प्रतिदिन सीएनजी पीएनजी उपलब्ध कराने पर प्रसन्नता व्यक्त की। उन्होंने आरएसजीएल के समग्र प्रदर्शन और लाभदायकता पर संतोष व्यक्त किया। आरएसजीएल के प्रबंध संचालक रणवीर सिंह ने बताया कि आरएसजीएल द्वारा 11 सीएनजी स्टेशनों की स्थापना कर गैस का वितरण किया जा रहा है। कोटा शहर में घरेलू उपभोक्ताओं के साथ ही 15 औद्यौगिक प्रतिष्ठानों सहित 30 व्यावसायिक संस्थानों को गैस सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। नीमराणा में 32 हजार किलोग्राम प्राकृतिक गैस प्रतिदिन उपलब्ध कराई जा रही है। एमडी रणवीर सिंह ने बताया कि आरएसजीएल निरंतर लाभ में काम कर रही है और पिछले दो सालों से लाभांश वितरित कर रही है। उन्होंने बताया कि चार ऑनालाईन स्टेशनों से गैस वितरित की जा रही है जिसका सीधा लाभ आम लोगों को प्राप्त हो रहा है। उन्होंने पीपीटी के माध्यम से विस्तार से प्रस्तुतिकरण दिया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack