चुनावी साल में नड्डा का मंत्र - टिकट की चाहत मत रखो बस संगठन के लिए जी जान से काम करो।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
जयपुर मे प्रदेश बीजेपी की दो दिवस कार्यसमिति की बैठक एंटरटेनमेंट पैराडाइज में संपन्न हुई। समापन सत्र में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा शामिल हुए। नड्डा के साफ संदेश दिया कि कार्यकर्ता टिकट की चाहत मत रखो। ऊपर की नहीं नीचे की सोच रखोगे, तो नेता बनोगे। पार्टी संगठन के लिए जी जान से काम करो। जो फल मिलना है, वो पार्टी अपने आप दे देगी।दरअसल प्रदेश में इसी साल विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में तमाम राजनीतिक पार्टी के नेता टिकट की उम्मीद लगाए बैठे हैं, लेकिन बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने साफ संदेश दे दिया कि कार्यकर्ता बनकर टिकट की उम्मीद रखने से ज्यादा जरूरी है कि नेता बने लोगों के लिए काम करें। किसी भी कार्यकर्ता को ऊपर की नहीं बल्कि नीचे की सोच रखनी चाहिए, तभी वह अच्छा नेता बन सकता है। नड्डा ने कहा कि एमएलए नहीं नेता बनने के लिए पार्टी का काम करो। मन में महत्वाकांक्षा मत रखो। चुनावी साल में प्रदेश से कांग्रेस सरकार को उखाड़ना है, तो एकजुट होकर सरकार के खिलाफ सड़कों पर उतरकर लड़ना होगा। धरातल पर पार्टी के लिए काम करिए, पार्टी अपने आप आपके बारे में सोचेगी और देखेगी। नड्डा ने कहा कि हमें गांव-गांव, घर-घर जाकर मोदी सरकार की कल्याणकारी योजनाओं को लेकर जनता के साथ निरंतर संवाद करना है और योजनाओं का बढ़-चढ़कर प्रचार प्रसार करना है। भाजपा का कार्यकर्ता होने के नाते इस बात के लिए संकल्पित रहें कि अंतिम सांस तक पार्टी के लिये कार्य करेंगे। सर्वस्पर्शी और सर्व समावेशी लक्ष्य के साथ काम करें। इसलिए हम सभी कार्यकर्ताओं को यह संकल्पित होना है कि हमेशा, हर पल पार्टी की मजबूती के लिए कार्य करें। नड्डा ने नसीहत दी कि बड़े लक्ष्य के लिए बड़ा दिल लेकर और बड़े मन से कार्य करें और मिशन 2023 और 2024 के लिए संकल्पित होकर कार्य करें। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में 2023 में राजस्थान और 2024 में केंद्र में फिर से भाजपा की सरकार बनेगी। इसके लिए पूरी मजबूती से कार्य करें। नड्डा ने पार्टी नेताओं से कहा-जब लोगों से बातचीत करो, तो 60% उनकी बात को सुनो 40% बोलो। इससे लोगों के मन में आपके लिए एक अच्छा विचार बनेगा।अध्यक्ष जेपी नड्डा ने सीधे तो नहीं लेकिन इशारों-इशारों में पार्टी के नेताओं को संदेश दे दिया कि सब एकजुट होकर काम करें। कोई भी स्वयंभू नेता नहीं बने। चुनाव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चेहरे पर लड़ना है। उन्होंने कहा सभी नेताओं को एकमुखी होकर और एकजुट होकर लड़ना होगा। तब जाकर पार्टी की ताकत बढ़ेगी और आप कांग्रेस सरकार से लड़ पाओगे। जनता में इससे सकारात्मक संदेश जाएगा। केवल एंटी इनकंबेंसी के भरोसे नहीं बैठे रहना है। सड़क पर उतरकर आंदोलन करना होगा। प्रदेश सरकार की नाकामियों को लेकर घर-घर जाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि जनमानस को सरकार की नाकामियों को बताना होगा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack