गांधीवादी मुख्‍यमंत्री के घर गांधीवादी प्रदर्शन, जत्‍थे बनाकर रोज पहुंच रहे पत्रकार।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
गांधीवादी मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत के सरकारी निवास पर पिंकसिटी प्रेस एनक्‍लेव, पत्रकार नगर नायला के आवंटी पत्रकारों का गांधीवादी प्रदर्शन शुक्रवार को दसवें दिन भी जारी रहा। चलो नायला संगठन के आह्वान पर आवंटी पत्रकारों का दसवां जत्‍था मुख्‍यमंत्री निवास पर पहुंचा और जोइंट सेक्रेटरी ललित कुमार से मुलाकात कर मुख्‍यमंत्री से मिलाने और उनके प्‍लॉट के पट्टे शीघ्र जारी कराने की गुहार की।दसवें जत्‍थे में शामिल वरिष्‍ठ पत्रकार बाबूलाल भारती, जगदीश सोनवाल, ओमप्रकाश मिश्रा, राजेन्‍द्र प्रसाद गुप्‍ता और नीरू गोयल ने ललित कुमार को बताया कि जब तक पिंकसिटी प्रेस एनक्‍लेव, पत्रकार नगर नायला के पत्रकारों से मुख्‍यमंत्री नहीं मिलेंगे, तब तक अलग अलग जत्‍थों में पत्रकार आवंटी भी उनके घर रोजाना पहुंचेंगे और गांधीवादी तरीके से अपनी बात रखेंगे। पत्रकारों ने उन्‍हें बताया कि लगातार दस दिन से वे मुख्‍यमंत्री निवास पर अपनी पीड़ा सुनाने आ रहे हैं, लेकिन मुख्‍यमंत्री से उनकी मुलाकात नहीं कराई जा रही है। इस पर ललित कुमार ने बताया कि बुधवार को मुख्‍यमंत्री को पिंकसिटी प्रेस एनक्‍लेव, पत्रकार नगर नायला के आवंटियों की पीड़ा से अवगत कराया है और उन्‍होंने कहा है कि जल्‍दी ही पत्रकार आवंटियों को उनके प्‍लॉटों के पट्टे दिए जाएंगे। पत्रकार बाबूलाल भारती ने बताया कि मुख्‍यमंत्री तो विधानसभा चुनाव से पहले पत्रकारों के धरने पर भी आए थे और उन्‍होंने वहां वादा किया था कि सरकार में आते ही नायला योजना के पट्टे जारी कराएंगे, लेकिन उनकी सरकार को भी चार साल हो चुके और उनके पट्टे अभी भी अटके हुए हैं। पूरी आवंटन प्रक्रिया में पत्रकारों का कोई दोष नहीं है।मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत की योजना को राजनीति की भेंट चढ़ाने का प्रयास किया गया है। आवंटियों को मुख्‍यमंत्री जी पर पूरा भरोसा है, लेकिन देरी होने के चलते अब आवंटियों का सब्र जवाब देने लगा है। मुख्‍यमंत्री एक बार मिलकर हमें आश्‍वस्‍त कर दें कि कब तक उनके पट्टे जारी किए जाएंगे। चलो नायला संगठन का आग्रह आंदोलन तब तक जारी रहेगा। जत्‍थे में शामिल पत्रकारों ने जोइंट सेक्रेटरी ललित कुमार को अपने भूखंडों आवंटन दस्‍तावेज भी सौंपे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack