विवाहिता की रहस्यमयी अवस्था में मौत, पिता ने ससुराल वालो पर हत्या करने का कराया मामला दर्ज।

टोंक/जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
टोंक के निवाई निवासी एक पीडित पिता ने अपनी पुत्री के सुसराल पक्ष पर मारपीट कर हत्या कर देने का आरोप लगाते हुए पुलिस मे मामला दर्ज कराया है। जयपुर के महेश नगर थाना मे पीडित पिता श्योजी राम शर्मा ने मामला दर्ज कराते हुए बताया की मेरी पुत्री नीतू शर्मा उम्र 38 वर्ष हाल निवासी रामनगर की हत्या 13 जनवरी 2023 को ससुराल वालो पति सहित अन्य लोगो ने मिलकर कर दी और उसकी सुचना मुझे उसी तारिख को लगभग 4.15 बजे शाम के फोन द्वारा दी गई की बच्ची की मौत हो गई। जब हम जब परिवार वाले SMS हास्पिटल पहुचे तो पता लगा कि उसकी हत्या को 3 घण्टे हो गये थे। लेकिन मुझे 4.15 शाम को बताया। यहा जब हम परिवार वाले पहुचे तो ससुराल वालो ने बताया कि उसने खुद ही फांसी लगा ली। पीडित ने बताया की पुत्री की शादी 2004 मे हैसियत से भी अच्छी की लेकिन शादी के कुछ समय पश्चात से ही मेरी पुत्री को परेशान करने लगे और उसको हर तरीके से नाजायज तंग करने लगे। विगत वर्षों में कई बार समझाया गया लेकिन ये लोग कभी पिटना कभी जलाना आये दिन मारपीट करना जारी रहा। ससुराल पक्ष मे ससुर कैलाश शर्मा जो कि बहूत पावर फूल है और क्लेक्टी मे कार्यरत थे उसका सम्पर्क सूत्र बहूत ऊंचे स्तर के है। सारे ससुराल वाले मिलकर मेरी पुत्री को मानसिक बीमार बता रहे है। और उसको by force नींद की दवाईया देते। अभी 7 जनवरी को भाई योगेश मिलने गया था तब भी वो रोकर भाई को बोली की ये लोग मुझे मार देंगे लेकिन घर पर मत बताना ससुराल वालो मे पुत्री का पति विकास शर्मा नशेबाज है और आए दिन मारपीट तंग करता था कई बार पहले भी मारने की कोशिश की थी पुत्री को परेशान और मारपीट ससुर कैलाश शर्मा पुत्र रामेश्वर विकास (पुत्र कैलाश (पति) देवर भानु पुत्र कैलाश मनीषा भानु सास पप्पु देवी, कैलाश और ननद सुमन इन सब लोगो ने मिलकर मेरी पुत्री को मानसिक और शारीरिक प्रताडना दी और 13 जनवरी को उसकी हत्या कर दी। पीडित ने बताया की हम गरीब किसान है और हमे न्याय चाहिये विगत कई वर्षों से हमने ससुर कैलाश शर्मा को बताया कि हम पुत्री को ले जाते है और हम इसको DR. को दिखाते है लेकिन उन्होंने हमेशा मना किया मेरी पुत्री को मानसिक बीमार बताकर नींद की दवाईया देते थे हम लोगो ने कई बार सगे सम्बंधियो के साथ आकर इनसे विनती की। लेकिन उसका परिणामस्वरूप उसकी हत्या कर दी। पीडित ने बताया कि गांव के गरीब किसान है और हमे न्याय चाहये हमे हत्या का संदेह इसलिये है कि पहले कई बार हर बात के लिये हमे PHONE करते थे लेकिन अब हत्या को आमहत्या का रूप दे दिया और बिना किसी सुचना के पीहर पक्ष एबम पुलिस के बिना उसको हास्पिटल ले गये। पीडित ने मामला दर्ज कराते हुए पुत्री की हत्यारों के खिलाफ सख्त से सख्त कारवाई की मांग की है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack